Hindi News »Breaking News» विश्व चैम्पियनशिप, ओलम्पिक की तैयारी का मंच राष्ट्रमंडल खेल : कोच पवैल (साक्षात्कार)

विश्व चैम्पियनशिप, ओलम्पिक की तैयारी का मंच राष्ट्रमंडल खेल : कोच पवैल (साक्षात्कार)

विश्व चैम्पियनशिप, ओलम्पिक की तैयारी का मंच राष्ट्रमंडल खेल : कोच पवैल (साक्षात्कार)

IANS | Last Modified - Apr 17, 2018, 07:50 PM IST

विश्व चैम्पियनशिप, ओलम्पिक की तैयारी का मंच राष्ट्रमंडल खेल : कोच पवैल (साक्षात्कार)
विश्व चैम्पियनशिप, ओलम्पिक की तैयारी का मंच राष्ट्रमंडल खेल : कोच पवैल (साक्षात्कार)

नई दिल्ली, 17 अप्रैल (आईएएनएस)। भारत की निशानेबाजी टीम के पिस्टल रूसी कोच पवैल स्मिरनोव का कहना है कि राष्ट्रमंडल खेल केवल आगामी विश्व चैम्पियनशिप और ओलम्पिक खेलों की तैयारियों के लिए एक मंच है।
राजधानी दिल्ली में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में पवैल ने आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में यह बात कही। इस समारोह का आयोजन 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने वाले निशानेबाजों के सम्मान में किया गया था।
आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय निशानेबाजों के प्रदर्शन पर पवैल ने कहा, ""हम सभी को बहुत खुशी है, लेकिन मैं यह कहूंगा कि राष्ट्रमंडल खेल उतने महत्वपूर्ण नहीं है, जितने एशियाई और ओलम्पिक खेल हैं। इसके अलावा विश्व चैम्पियनशिप भी बेहद महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है।""
बकौल पवैल, ""एक तरफ से देखा जाए, तो यह राष्ट्रमंडल खेल विश्व चैम्पियनशिप, एशियाई खेलों और ओलम्पिक खेलों की तैयारी के लिए तय किया गया एक कदम का फासला है। एक मंच है। यह हमारी शुरुआत है।""
विश्व चैम्पियनशिप, एशियाई और ओलम्पिक खेलों के लिए क्या भारतीय निशानेबाजों की तैयारियां सही रास्ते पर हैं? इस पर पवैल ने कहा, ""यह कहना अभी मुश्किल होगा, क्योंकि अगर आप देखेंगे कि कई मीडिया कर्मी कहते हैं कि कितने पदक आएंगे? मेरा कहना यह है कि मैं कोच हूं। भविष्य देखने वाला इंसान नहीं हूं। निश्चित तौर पर हम विश्व चैम्पियनशिप जीतने के लिए पूरा प्रयास करेंगे। हमारी तैयारियां अच्छी चल रही हैं।""
पवैल ने कहा कि विश्व चैम्पियनशिप और ओलम्पिक खेलों में अनीश भानवाल, मनु भाकर, जीतू राय और हीना सिद्धु के पदक जीतने के अच्छे अवसर हैं। बाकी निशानेबाज भी पूरी कोशिश करेंगे, लेकिन ये चार निश्चित तौर पर अच्छा प्रदर्शन करेंगे।
मनु और अनीश जैसे युवा निशानेबाजों को अपनी इस अच्छी फॉर्म को बनाए रखने के लिए की जाने वाली कोशिशों के बारे में पूछे जाने पर पवैल ने कहा, ""हम उन्हें रणनीति और तकनीक ही नहीं सिखाते हैं, बल्कि हर दिन उन्हें उनकी छोटी से छोटी गलतियों के बारे में भी समझाते हैं, क्योंकि यहीं छोटी गलतियां बड़े टूर्नामेंटों में बहुत भारी पड़ जाती हैं।""
पवैल ने कहा कि विश्व चैम्पियनशिप और ओलम्पिक खेलों में भारतीयों को चीन के निशानेबाजों से सबसे अधिक कड़ी प्रतिस्पर्धा मिल सकती है।
उन्होंने कहा, ""चीन के निशानेबाज भारतीयों को सबसे कड़ी प्रतिस्पर्धा मिलेगी। चीन के निशानेबाजों के बीच अनुशासन बहुत कड़ा है। एक छोटी से गलती भारतीय निशानेबाजों को पदक की दौड़ से बाहर कर देगी। निशानेबाजी में अनुशासन ही बहुत मायने रखता है।""
--आईएएनएस
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Breaking News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×