--Advertisement--

टीम में चयन से पहले खिलाड़ियों का योयो टेस्ट कराएगा बीसीसीआई, इस साल 3 खिलाड़ी हुए फेल

भारतीय टीम प्रबंधन ने खिलाड़ियों की फिटनेस परखने के लिए योयो टेस्ट अनिवार्य किया है।

Danik Bhaskar | Jun 19, 2018, 06:43 PM IST
टीम में चयनित खिलाड़ी टेस्ट में फेल होने की वजह से बाहर न हो इसलिए बोर्ड ने यह फैसला किया है। -फाइल टीम में चयनित खिलाड़ी टेस्ट में फेल होने की वजह से बाहर न हो इसलिए बोर्ड ने यह फैसला किया है। -फाइल

- बीसीसीआई ने पिछले साल ही योयो टेस्ट को तीनों फॉर्मेटों में अनिवार्य किया है

- 2017 चैंपियनशिप ट्रॉफी में सुरेश रैना और युवराज सिंह यह टेस्ट पास नहीं कर पाए थे

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) राष्ट्रीय टीम में चयन से पहले ही खिलाड़ियों का यो यो टेस्ट कराएगी। बीसीसीआई ने यह फैसला टीम में चयनित अंबाती रायुडू (इंग्लैंड दौरे) और मोहम्मद शमी (अफगानिस्तान के खिलाफ) यो-यो टेस्ट में फेल होने के बाद लिया है। संजू सैमसन भी हाल ही में भारतीय (ए) टीम में चयन होने के बाद टेस्ट पास नहीं कर पाए थे। इस साल अब तक 3 खिलाड़ी चयन होने के बाद यो-यो टेस्ट में पास न हो पाने के कारण टीम से बाहर हुए हैं।

बीसीसीआई के मुताबिक, 2018 में आईपीएल होने की वजह से इंग्लैंड और अफगानिस्तान दौरे के लिए टीम में चयन के बाद खिलाड़ियों का यो-यो टेस्ट हुआ था। इसमें कुछ खिलाड़ी फेल हो गए। ऐसी स्थिति दोबारा न बने, जिससे चयनित खिलाड़ियों को टेस्ट में फेल होने की वजह से टीम से बाहर होना पड़े। इसीलिए फैसला लिया गया है कि टीम में चयन के पहले ही खिलाड़ियों का यो-यो टेस्ट होगा। बीसीसीआई चेयरमैन विनोद राय, डायना इडुलजी, सीईओ राहुल जौहरी, सबा करीम ने हाल ही में हुई बैठक में यह फैसला लिया।

भारत के 6 खिलाड़ी जो राष्ट्रीय टीम में चयन के बाद योयो टेस्ट में फेल हुए

खिलाड़ी किस दौरे से बाहर हुए
अंबाती रायुडू इंग्लैंड दौरा (2018)
मोहम्मद शमी अफगानिस्तान के खिलाफ (2018)
संजू सैमसन भारतीय ए टीम (2018)
युवराज सिंह चैंपियनशिप ट्रॉफी (2017)
सुरेश रैना चैंपियनशिप ट्रॉफी (2017)
वॉशिंगटन सुंदर ऑस्ट्रेलिया दौरा (2017)

हर खिलाड़ी को कम से कम 19.5 अंक लाने जरूरी

- भारतीय टीम प्रबंधन ने खिलाड़ियों की फिटनेस परखने के लिए यो-यो टेस्ट अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए 20 मीटर की दूरी पर दो लाइन बनाई जाती हैं। जिस खिलाड़ी का टेस्ट होना होता है, उसे इन लाइन के बीच दौड़ना होता है। जैसे ही बीप बजती है, उसे मुड़ना होता है। हर एक मिनट के बाद बीप बजने का अंतराल बढ़ता जाता है। तय समय पर लाइन तक नहीं पहुंचे तो बीप और जल्दी-जल्दी बजने लगती है। बीसीसीआई के मुताबिक, हर खिलाड़ी को इस टेस्ट में कम से कम 19.5 या इससे ज्यादा अंक हासिल करना जरूरी हैं।

रायुडू को आईपीएल में बेहतरीन प्रदर्शन के आधार पर टीम में जगह दी गई थी। लेकिन वे योयो टेस्ट पास नहीं कर पाए। -फाइल रायुडू को आईपीएल में बेहतरीन प्रदर्शन के आधार पर टीम में जगह दी गई थी। लेकिन वे योयो टेस्ट पास नहीं कर पाए। -फाइल
2017 में चैंपियनशिप ट्रॉफी में युवराज और रैना को टेस्ट पास न कर पाने की वजह से टीम से बाहर रहना पड़ा था। -फाइल 2017 में चैंपियनशिप ट्रॉफी में युवराज और रैना को टेस्ट पास न कर पाने की वजह से टीम से बाहर रहना पड़ा था। -फाइल