• Hindi News
  • No fake news
  • A 1963 Film Has Been Made On The New Variant Of Corona, Omicron, The Poster Went Viral; This Claim Is Wrong, Know Its Truth

फेक न्यूज एक्सपोज:कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन पर 1963 में बन चुकी है फिल्म, पोस्टर हुआ वायरल; ये दावा गलत है, जानिए इसकी सच्चाई

2 महीने पहलेलेखक: हितेश तिवारी

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर एक फिल्म का पोस्ट शेयर किया जा रहा है। इस पोस्टर में लिखा है- 'द ओमिक्रॉन वैरिएंट', जिस दिन धरती को एक कब्रिस्तान में बदल दिया गया था।

दावा किया जा रहा है कि कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन पर 'द ओमिक्रॉन वैरिएंट' नाम की ये फिल्म साल 1963 में ही रिलीज हो चुकी है।

बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा ने ये पोस्टर शेयर कर लिखा- मानो या नहीं, यह फिल्म 1963 में आई थी, इसकी टैगलाइन देखें।

और सच क्या है?

  • वायरल पोस्टर का सच जानने के लिए हमने वायरल पोस्टर को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें इसका असली पोस्टर abandomoviez, E-bay, todocoleccion नाम की वेबसाइट पर मिला।
  • abandomoviez नाम की वेबसाइट पर मिले फिल्म के असली पोस्टर में स्पेनिश भाषा में लिखा है- sucesos en la IV fase यानी कार्यक्रम चौथे चरण में।
  • todocoleccion नाम की E-commerce वेबसाइट पर स्पेनिश फिल्म sucesos en la IV fase का ओरिजिनल कवर मौजूद है। इस कवर की कीमत वेबसाइट पर 12 यूरो है।
  • E-commerce वेबसाइट E-bay पर भी स्पेनिश फिल्म का कवर मौजूद है। इस कवर की कीमत वेबसाइट पर 10 डॉलर है।
  • पड़ताल के दौरान हमें IMDb वेबसाइट पर इस फिल्म से जुड़ी पूरी जानकारी भी मिली।
  • वेबसाइट के मुताबिक सितंबर 1974 में आई ये एक फिक्शन फिल्म थी। इसमें रेगिस्तानी की चीटियों और इंसानों के बीच जंग होती दिखाई गई है।
  • ये फिल्म दो वैज्ञानिक और एक लड़की पर आधारित है, जो उन चींटियों से लड़कर लोगों को बचाते हैं।
  • वेबसाइट पर मौजूद स्पेनिश फिल्म के असली पोस्टर को देखने पर पता चलता है कि वायरल हो रहा पोस्टर एडिटेड यानी फेक है।
  • पड़ताल के अगले चरण में हमने ओमिक्रॉन नाम की फिल्म से जुड़े की-वर्ड्स गूगल पर सर्च किए। सर्च करने पर हमें ओमिक्रॉन फिल्म की पूरी जानकारी IMDb की वेबसाइट पर मिली।
  • वेबसाइट के मुताबिक 1963 में रिलीज हुई ओमिक्रॉन एक कॉमेडी फिक्शन फिल्म थी। इस फिल्म में एलियन धरती से इंसान के एक शरीर को ले जाते हैं, ताकि वो इंसानों पर कब्जा कर सकें।
  • 1963 में रिलीज हुई ओमिक्रॉन की पड़ताल करने पर हमें इंटरनेट पर कहीं ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली, जहां बताया गया हो कि ये फिल्म कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन पर आधारित है।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर 'द ओमिक्रॉन वैरिएंट' नाम से वायरल हो रहा फिल्म का पोस्टर एडिटेड यानी फेक है।