पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फेक न्यूज एक्सपोज:कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद बेहोशी की दवा लेना घातक हो सकता है? जानिए इस दावे की सच्चाई

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है। पोस्ट में लिखा है, जिस भी व्यक्ति को कोरोना वैक्सीन लगी है, उसे किसी भी तरह की एनेस्थेटिक (सुन्न या बेहोशी की दवा) का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। यह उस व्यक्ति के लिए घातक साबित हो सकता है।

ये मैसेज जांच के लिए हमें भास्कर हेल्पलाइन पर भी मिला।

और सच क्या है?

  • वायरल मैसेज की सच्चाई जानने के लिए हमने महामारी विशेषज्ञ, पब्लिक हेल्थ पॉलिसी एक्सपर्ट डॉ. चंद्रकांत लहारिया से संपर्क किया।
  • डॉ. लहारिया ने भास्कर को बताया कि वायरल पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है। वैक्सीन लगवाने से इम्यूनिटी एक्टिव होती है और एनेस्थेटिक एक अलग प्रक्रिया के तहत काम करता है। एनेस्थेटिक नब्ज के माध्यम से काम करते हुए सेंस (समझने की शक्ति) को नियंत्रित करता है।
  • डॉ. लहारिया आगे बताते है कि एनेस्थेटिक का इम्यून सिस्टम से कोई संबंध नहीं है। इसलिए ये कहना कि वैक्सीन लगवाने के बाद एनेस्थेटिक का उपयोग करना घातक है, ये सही नहीं है।
  • पड़ताल के दौरान हमें भारत सरकार के PIB (प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो) के सोशल मीडिया अकाउंट पर एक पोस्ट मिला, जिसमें उन्होंने वायरल पोस्ट का खंडन करते हुए उसे फेक बताया है।
  • PIB ने पोस्ट शेयर कर लिखा, ये दावा गलत है। दावे की पुष्टि करने के लिए ऐसा कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। गलत सूचना के झांसे में न आएं, वैक्सीन लगवाएं।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट के साथ किया जा रहा दावा गलत है।
खबरें और भी हैं...