फेक vs फैक्ट / कोरोनिल पर रोक लगाने वाले डॉक्टर को नौकरी से निकाले जाने वाला दावा झूठा, खुद आयुष मंत्रालय ने इसे फेक बताया

Claim to expel doctor Mujahid from banning coronil found fake in investigation
X
Claim to expel doctor Mujahid from banning coronil found fake in investigation

दैनिक भास्कर

Jun 26, 2020, 02:45 PM IST

क्या वायरल : सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि पतंजलि की कोरोनिल दवा पर रोक लगाने वाले डॉक्टर मुजाहिद को आयुष मंत्रालय ने नौकरी से निकाल दिया है। 

  • दरअसल 23 जून को पतंजिल आयुर्वेद लिमिटेड ने कोरोना की दवा ( कोरोनिल) बनाने का दावा किया था। जिसके विज्ञापन पर आयुष मंत्रालय ने तब तक के लिए बैन लगा दिया है, जब तक ये सिद्ध नहीं हो जा जाता कि दवा कोविड-19 के इलाज में कारगर है। इसी बीच सोशल मीडिया पर आयुष मंत्रालय द्वारा डॉक्टर को निकालने जाने का दावा हो रहा है। जिसे बड़ी संख्या में लोग सच मानकर शेयर कर रहे हैं। 

https://twitter.com/iamjyakishori/status/1276182792926183424

https://twitter.com/dinesh_adiyo/status/1275972581556809733

https://twitter.com/bablookumarsh16/status/1275979961514332160

https://bit.ly/3eBV1R4

फैक्ट चेक पड़ताल 

  • दावा कोरोनिल की दवा पर रोक लगाने से जुड़ा है। इस संबंध में हमने आयुष मंत्रालय द्वारा जारी किया 23 जून का बयान पढ़ा। इससे पता चलता है कि मंत्रालय ने कोरोनिल दवा पर नहीं बल्कि सिर्फ कोरोनिल दवा के विज्ञापन पर रोक लगाई है।
  • अलग-अलग कीवर्ड्स से सर्च करने पर भी हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली। जिससे ये पुष्टि हो सके कि कोरोनिल की दवा पर रोक लगाने वाले डॉक्टर को आयुष मंत्रालय ने सस्पेंड या बर्खास्त किया है। 
  • हमने आयुष मंत्रालय द्वारा 23 जून के बाद जारी किए गए बयान देखने के लिए मंत्रालय का ट्विटर हैंडल चेक किया। यहां 25 जून को आयुष मंत्रालय ने ही इस सूचना का खंडन किया है। साथ ही ये भी स्पष्ट किया है कि हाल के दिनों में मंत्रालय ने किसी डॉक्टर या मेडिकल ऑफिसर को नहीं निकाला है। मंत्रालय ने ट्विटर हैंडल पर अफवाह का एक स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है। 

  • निष्कर्ष : कोरोनिल पर रोक लगाने वाले डॉक्टर को आयुष मंत्रालय द्वारा निकाले जाने वाली खबर झूठी है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना