• Hindi News
  • No fake news
  • Corona's Fake Guideline Going Viral In The Name Of Dainik Bhaskar; Know What Is Its Truth

फेक न्यूज एक्सपोज:दैनिक भास्कर के नाम से वायरल हो रही कोरोना की फर्जी गाइडलाइन; जानिए क्या है इसकी सच्चाई

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर दैनिक भास्कर के नाम से एक पोस्ट वायरल हो रहा है। पोस्ट में भास्कर की खबर का स्क्रीनशॉट है। खबर में शादी समारोह और सार्वजनिक आयोजन के लिए प्रशासन की तरफ से लगाई गई पाबंदियां लिखी हैं।

दावा किया जा रहा है कि इन पाबंदियां में से एक पाबंदी ये है कि अंतिम संस्कार के लिए 4 दिन पहले एसडीएम को सूचना देनी अनिवार्य है।

ये स्क्रीनशॉट हमें भास्कर हेल्पलाइन पर भी जांच के लिए मिला।
ये स्क्रीनशॉट हमें भास्कर हेल्पलाइन पर भी जांच के लिए मिला।

और सच क्या है?

  • कोरोना के मामले बढ़ने के बाद राजस्थान सरकार ने 30 अप्रैल तक के लिए नई गाइडलाइन जारी की हैं। सरकार ने लॉकडाउन तो नहीं पर लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगाने की शुरुआत कर दी है।
  • राजस्थान सरकार की नई गाइडलाइन की खबर दैनिक भास्कर ने 2 दिन पहले अपनी वेबसाइट पर पब्लिश की थी। खबर में शादी समारोह और सार्वजनिक आयोजन के लिए लगाई गई पाबंदियां भी लिखी हैं।
  • वेबसाइट पर लगी खबर को पढ़ने पर पता चला है कि भास्कर के नाम से वायरल हो रहा स्क्रीनशॉट फेक है।
  • स्क्रीनशॉट में लिखा है कि अंतिम संस्कार के लिए 4 दिन पहले एसडीएम को सूचना देनी अनिवार्य है। जबकि वेबसाइट पर लगी खबर में इस तरह की कोई पाबंदी नहीं लिखी हुई है।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर दैनिक भास्कर के नाम से वायरल हो रहा खबर का स्क्रीनशॉट फेक है।
खबरें और भी हैं...