पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • No fake news
  • COV 19 Circuit Board Being Installed On 5G Mobile Tower, Due To Which Corona Is Spreading Everywhere; Know The Truth Of This Viral Video

फेक न्यूज एक्सपोज:5G मोबाइल टावर पर लगाया जा रहा COV-19 सर्किट बोर्ड, जिससे हर जगह फैल रहा कोरोना; जानिए इस वायरल वीडियो का सच

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें एक टावर इंजीनियर 5G मोबाइल टावर के पास खड़े होकर वीडियो बनाते हुए सर्किट बोर्ड दिखा रहा है। सर्किट बोर्ड पर अंग्रेजी में COV-19 लिखा है।

दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहा शख्स एक टावर इंजीनियर है। जिसे 5G मोबाइल टावर में आई तकनीकी खराबी को ठीक करने के लिए भेजा था। इंजीनियर को खास आदेश दिए गए थे कि टावर में लगी सर्किट प्लेट को खोलकर न देखे। फिर भी उस शख्स ने अपनी नौकरी को दाव पे लगाकर उस प्लेट को खोलकर देखा तो उसमें Covid-19 की चिप नजर आई।

ये वीडियो हमें भास्कर हेल्पलाइन पर भी जांच के लिए मिला।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने वीडियो के की-फ्रेम को येंडेक्स पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें वायरल वीडियो की पूरी वीडियो हेडन प्रॉसी नाम के सोशल मीडिया अकाउंट पर मिली।
  • अकाउंट पर मिले 12 मिनट के पूरे वीडियो को देखने पर पता चलता है कि ये वीडियो हेडन प्रॉसी ने ही बनाया है। इस वीडियो में हेडन ने बताया कि किस तरह उन्होंने मोबाइल नेटवर्क इंजीनियर बनकर अफवाह फैलाई।
  • हेडन ने एक सर्किट बोर्ड पर स्टिकर से COV-19 लिखा और 5G मोबाइल टावर के पास खड़े होकर वीडियो रिकॉर्ड करते हुए कहा- यह एक 5G किट है, जिस पर COV-19 लिखा है, पता नहीं क्यों इस सर्किट बोर्ड को टावर पर लगाया जा रहा है। फिर ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया।
  • हेडन ने बताया कि अफवाह फैलाना कितना आसान है ये उन्होंने खुद एक वीडियो बनाकर साबित कर दिया। ये वीडियो बनाने का मकसद सिर्फ लोगों को अफवाहों से सचेत करना था।
  • पड़ताल के दौरान हमने हेडन प्रॉसी के बारे में गूगल पर सर्च किया। सर्च करने पर हमें पता चला कि हेडन एक ब्रिटिश पत्रकार, लेखक और कॉमेडियन हैं।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर विडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। ये एक ट्यूटोरिल वीडियो है, जिसे हेडन प्रॉसी नाम के ब्रिटिश पत्रकार ने अफवाहों से सचेत करने के लिए बनाया था।

ये भी पढ़ें...

कोरोनावायरस की दूसरी लहर का कारण 5G की टेस्टिंग है? जानिए क्या है इस वायरल पोस्ट की सच्चाई

खबरें और भी हैं...