पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • No fake news
  • Fact Check: Chinese Army Intrusion On India's Occupied Black Top Hill Again? 1 Year Old Photo Goes Viral With A False Claim.

फेक न्यूज़ एक्सपोज़:भारत के कब्जे वाली ब्लैक टॉप हिल पर फिर हुई चीनी सेना की घुसपैठ? एक साल पुरानी फोटो गलत दावे के साथ वायरल

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि 11 सितंबर की रात चीनी सेना ने दोबारा एलएसी पर घुसपैठ की। दावा है कि चीनी सेना ने भारतीय सेना को ब्लैक टॉप हिल से हटाने की कोशिश की थी और इस कोशिश को भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया।

7 सितंबर को भारतीय सेना ने चीनी घुसपैठ को नाकाम करते हुए चुशूल की अहम चोटियों पर कब्जा कर लिया था। इनमें ब्लैक टॉप हिल भी शामिल है। एक सप्ताह बाद अब दावा किया जा रहा है कि चीन ने दोबारा ब्लैक टॉप हिल पर घुसपैठ की। सोशल मीडिया के अलावा News 24 वेबसाइट पर भी ये खबर पब्लिश की गई है।

और सच क्या है ?

  • अलग-अलग की वर्ड सर्च करने पर भी News 24 के अलावा किसी अन्य न्यूज वेबसाइट पर हमें ऐसी खबर नहीं मिली, जिससे पुष्टि होती हो कि 11 सितंबर की रात भारत और चीन की सेनाओं में फिर झड़प हुई।
  • पड़ताल के अगले चरण में हमने उस फोटो का सच जांचना शुरू किया, जिसे दावे के साथ उसे शेयर किया जा रहा है। फोटो में बर्फीले इलाके में भारतीय सैनिक हाथ में तिरंगा लिए खड़े दिख रहे हैं।
  • फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च करने से न्यूज एजेंसी ANI की वेबसाइट पर 1 साल पुरानी खबर में भी यही फोटो मिली। इससे ये स्पष्ट होता है कि फोटो का भारत-चीन सीमा पर चल रहे हालिया विवाद से कोई संबंध नहीं है।
  • ANI की खबर में फोटो के साथ दिए गए कैप्शन से पता चलता है कि ये सियाचिन ग्लैशियर में अक्टूबर, 2019 के दौरान चले स्वच्छ भारत कैंपेन की है। पीएम मोदी की अपील पर भारतीय सैनिकों ने भी इस कैंपेन में हिस्सा लिया था।
  • केंद्र सरकार की एजेंसी पीआईबी फैक्ट चेक ने सीमा पर भारत-चीन सैनिकों के बीच हुई झड़प की खबर को फेक बताया है।
0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें