• Hindi News
  • No fake news
  • Fact check Did Police arrested 63 kids who were getting training to become terrorist from madarsa

फैक्ट चेक / कोलकाता के मदरसे में दे रहे थे आतंकवाद की ट्रेनिंग, पुलिस ने 63 बच्चों को किया गिरफ्तार?



Fact check- Did Police arrested 63 kids who were getting training to become terrorist from madarsa
X
Fact check- Did Police arrested 63 kids who were getting training to become terrorist from madarsa

  • क्या फेक : कोलकाता पुलिस ने मदरसे में आतंकवादी बनने की ट्रेनिंग ले रहे 63 बच्चों को किया गिरफ्तार
  • क्या सच : वायरल वीडियो 2015 का है, पुलिस ने बच्चों को पहचान पत्र ना होने के कारण हिरासत में लिया था

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 08:47 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. दैनिक भास्कर प्लस ऐप के एक पाठक ने हमें एक वीडियो भेजा और उसकी सच्चाई बताने के लिए कहा। वीडियो में कुछ पुलिस वालों के बीच एक महिला बच्चों के एक समूह को एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए कहती दिखाई दे रही है। दावा किया जा रहा है कि पुलिस ने कोलकाता के एक मदरसे में आतंकवादी बनने की ट्रेनिंग ले रहे बच्चों को गिरफ्तार किया है।

 

सोशल मीडिया में यूजर्स लिख रहे हैं कि इस मामले को मुख्य मीडिया ने दिखाने से इनकार किया है। वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है, 'कोलकाता के राजा बाजार में मदरसे के 63 बच्चों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बच्चों का कहना है कि मदरसे में आतंकवादी बनने की ट्रेनिंग दी जाती है।'

 

क्या वायरल

  • यही वीडियो 2015 में भी सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था।

 

 

क्यों फेक

  • वायरल वीडियो अगस्त 2015 का है। कोलकाता के सियालदाह रेलवे स्टेशन पर रेलवे पुलिस ने एक मदरसा टीचर और उनकी पत्नी के साथ 63 बच्चों को गिरफ्तार किया था।
  • रेलवे पुलिस ने इस समूह को पहचान पत्र ना दिखा पाने के कारण रोका था। गिरफ्तारी का शहर में भारी विरोध हुआ, जिसके बाद पुलिस ने इन लोगों को छोड़ दिया था। 
  • कई मीडिया समूहों ने इस खबर को कवर किया था। द हिन्दू की खबर के अनुसार ज्यादातर बच्चे बिहार के अलग-अलग हिस्सों से थे, और उन्हें पुणे स्थित एक मदरसे में भेजा जा रहा था। 
     
द हिन्दू की वेबसाइट पर पब्लिश खबर का स्क्रीनशॉट

 

  • स्पष्ट है कि 4 साल पुराने वीडियो को झूठे दावे के साथ शेयर किया जा रहा है। इन सभी बच्चों को पहचान पत्र ना होने के कारण कुछ देर के लिए सिर्फ हिरासत में लिया गया था। 

 

''


 

COMMENT