फैक्ट चेक / दावा- प्रणब मुखर्जी ने किताब में लिखा- सोनिया हिंदुओं से नफरत करती हैं, लेकिन यह कुछ शब्दों पर गढ़ा गया झूठ है



fact check- pranab mukherjee in his book coalition years said that sonia gandhi hates hindus
X
fact check- pranab mukherjee in his book coalition years said that sonia gandhi hates hindus

  • क्या फेक : पूर्व राष्ट्रपति ने अपनी किताब 'द कोएलिशन ईयर्स' में कहा- सोनिया गांधी हिंदुओं से नफरत करती हैं
  • क्या सच : प्रणब मुखर्जी ने किताब में ऐसा कोई दावा नहीं किया है और यह सिर्फ एक मनगढ़ंत धारणा बनाने की कोशिश है

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 07:42 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क.  दैनिक भास्कर प्लस ऐप के एक पाठक ने हमें एक अखबार (दो टूक नेटवर्क) की कटिंग फोटो भेजी और उसकी सच्चाई बताने को कहा। खबर का शीर्षक था, 'हिंदुओं से नफरत करती हैं सोनिया।' शीर्षक के अलावा बाकी खबर पढ़ने के लिहाज से काफी धुंधली है। खबर के अनुसार प्रणब मुखर्जी की किताब 'द कोएलिशन ईयर्स' में खुलासा किया था कि सोनिया गांधी हिंदुओं से नफरत करती हैं।

 

खबर में नवंबर 2004 में दिवाली के दिन शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को हत्या के मामले में गिरफ्तार किए जाने की घटना का जिक्र है। लिखा गया है कि- इस समय सत्ता में कांग्रेस पार्टी थी और यह गिरफ्तारी सोनिया गांधी ने करवाई थी। इसी घटना का उल्लेख अपनी किताब में करते हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सोनिया गांधी के बारे में शीर्षक में लिखी बात कही है।

 

क्या वायरल
खबर फरवरी 2018 की है। वायरल न्यूजपेपर क्लिप दो टूक नेटवर्क नाम के एक अखबार में प्रकाशित की गई थी।  

 

''

 

पोस्टकार्ड न्यूज और चैनल हिंदुस्तान नाम की वेबसाइट्स पर भी प्रणब मुखर्जी की किताब के हवाले से यह खबर फरवरी 2018 में पब्लिश की गई थी। 

 

''


पोस्टकार्ड न्यूज की इस खबर को बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी ट्वीट किया था।

 


क्यों फेक
प्रणब मुखर्जी की किताब द कोएलिशन ईयर्स के पेज नंबर 209 पर वायरल खबर की घटना का जिक्र है। लेकिन किताब में 'सोनिया गांधी हिंदुओं से नफरत करती है' यह नहीं लिखा गया है।

 

''

 

घटना के संदर्भ में किताब के इस पेज पर लिखा है कि गिरफ्तारी के बाद प्रणब मुखर्जी ने कैबिनेट मीटिंग में सवाल किया था कि क्या भारत में धर्मनिरपेक्षता के मूल सिद्धांत केवल हिंदु साधुओं पर लागू होते हैं। क्या राज्य प्रशासन ईद के दिन किसी मुस्लिम धर्मगुरू को गिरफ्तार करने की हिम्मत कर पाएगा?

 

किताब में जिस घटना की बात की जा रही है वह नवंबर 2004 में हुई थी। इस संबंध में इंडिया टुडे द्वारा 29 नवंबर 2004 को एक खबर पब्लिश की गई थी। जिसमें बताया गया था कि शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को तमिलनाडु में राज्य सरकार ने गिरफ्तार किया था और उस समय तमिलनाडु में जयललिता की पार्टी अन्नाद्रमुक का शासन था। 

 

''

 

यह फेक न्यूज मुख्य रूप से पोस्टकार्ड न्यूज वेबसाइट की खबर से वायरल हुई थी। मार्च-अप्रैल 2018 के समय इस वेबसाइट के एडिटर और फाउंडर महेश विक्रम हेगड़े को फेक न्यूज छापने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

 

साफ है कि प्रणब मुखर्जी ने अपनी किताब में इस तरह का कोई वायरल दावा नहीं  किया। किताब में लिखी बातों को तोड़-मरोड़कर सोनिया गांधी से जोड़ा गया और एक फेक खबर पब्लिश की गई। इस तरह से ये दावा झूठा है।
 

''

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना