• Hindi News
  • No fake news
  • fake video going viral of an overcrowded train is circulating on social media with a message claiming it is Shramik Special train carrying migrants from Mumbai to West Bengal

फैक्ट चेक / मुम्बई से बंगाल के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन का वीडियो झूठा, बिना सोशल डिस्टेंसिंग ठसाठस भरी ट्रेन बांग्लादेश की है

X

  • क्या वायरल: एक ट्रेन में लोग ट्रेन में अंदर-बाहर लोग भरे हुए हैं, बताया जा रहा ये 10 मई की मुम्बई से बंगाल के लिए चली श्रमिक स्पेशल है
  • सच्चाई: रेलवे के मुताबिक 10 मई को ऐसी कोई ट्रेन नहीं चली, और वास्तव में ये वीडियो बांग्लादेश के ट्रेन का है और ये 2018 का है

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 11:17 PM IST

देशभर में प्रवासी मजूदरों को अपने घरों तक पहुंचाने के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं। अब तक विभिन्न राज्यों से करीब 15 लाख मजदूरों को उनके ठिकाने तक पहुंचाया जा चुका है और ये क्रम लगातार जारी है। इसी बीच वॉट्सऐप पर मजदूरों की पीड़ा के नाम पर कुछ फेक वीडियो भी वायरल हो रहे हैं।

ऐसा ही एक वीडियो खूब देखा जा रहा है जिसमें एक ट्रेन में हजारों लोग ठसाठस भरें हैं और कहा जा रहा है कि ये ट्रेन मुम्बई से 10 मई को बंगाल के लिए रवाना हुई श्रमिक स्पेशल है जिसमें कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का बिल्कुल पालन नहीं किया जा रहा।

इस ट्रेन का सच यह है कि ऐसी कोई ट्रेन 10 मई को मुम्बई से नहीं चली है। दिलचस्प बात यह है कि मैसेज के साथ जिस ट्रेन का वीडियो दिखाया जा रहा है वह बांग्लादेश का दो साल पुराना वीडियो है।

क्या वायरल

  • वाट्सऐप पर 10 मई की तारीख से जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें 2 मिनट 15 सेकंड का वीडियो है और हरे लेटर्स में अंग्रेजी में Mumbai to West bengal migrant train लिखा है। इसके साथ भी सरकार को कोसते हुए लिखा जा रहा कि, हुकुमत और भक्तों के पास कोई इंसानियत नहीं है।

वॉट्सऐप पर वायरल हो रहे वीडियो का स्क्रीन शॉट। 

फेसबुक पर सबसे पहले ये वीडियो अब्दुल अजीम नजीर नाम के यूजर की ओर से 13 मई को अपलोड हुआ था। 

फैक्ट चेक पड़ताल

  • इस वीडियो को देखकर पहली ही नजर में समझ आ जाता है कि हमारे देश में कहीं भी इस तरह की पैसेंजर ट्रेन नहीं चलती। 
  • इस ट्रेन के डिब्बों का रंग हरा है और हमारे देश में सभी पैसेंजर ट्रेनों का रंग या तो लाल है या फिर नीला। 
  • इस ट्रेन की इमेज को गूगल और यूट्यूब पर डालने से या इसके वीडियो को अपलोड करके सर्च करने से सीधे Beautiful Places To See नाम का यूट्यूब चैनल सामने आता है। इस चैनल पर 24 फरवरी 2018 को ये वीडियो - Most Crowded Train in the World- Bangladesh Railway टाइटल से अपलोड किया गया था। अब तक इसे 64 मिलियन यूजर्स देख चुके हैं।

  • हमारी पड़ताल में यह भी सामने आया कि मुम्बई से हावड़ा, बंगाल के लिए पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन 16 मई शनिवार को रवाना हुई। इस संबंध में वेस्टर्न रेलवे की ओर से ट्वीट भी किया गया है। 

  •  इसके अलावा सरकार और रेलवे की ओर से इस बांग्लादेशी फेक वीडियो पर संज्ञान लेते हुए पीआईबी फैक्ट चेक प्लेटफॉर्म के जरिये इसे फेक बताया गया है। पीआईबी पर अपने ट्विटर फैक्ट चेक हैंडल पर इसके लिए पोस्ट भी की है।






  • निष्कर्ष: हमारी पड़ताल के साथ रेलवे और पीआईबी की ओर से जारी ट्वीट के आधार पर यह पोस्ट और वीडियो पूरी तरह से फेक है। आपके पास भी ऐसा कोई वीडियो आया हो तो उस पर भरोसा न करें और न ही उसे फॉरवर्ड करें। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना