• Hindi News
  • No fake news
  • Rajasthan Jodhpur Violence Social Media Viral Video: Muslim Hindu | Jodhpur Clash On EID

फेक न्यूज एक्सपोज:जोधपुर में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हिंदू युवक को बेरहमी से पीटा? जानिए इस वायरल VIDEO का सच

3 महीने पहले

क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक युवक को कुछ लोग लोहे की रॉड से बेहरमी से पीट रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो राजस्थान के जोधपुर का है। जहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक हिंदू युवक को बेरहमी से पीटा।

यूजर्स ने वीडियो शेयर कर लिखा- कांग्रेस पार्टी के मियां गहलोत ने आज जोधपुर का इंटरनेट इसलिए बंद किया। ताकि मुल्ले खुले आम हिंदुओं का कत्ल कर सके, इसलिए बार- बार कह रहा हूं कि हिन्दू जल्द इस्लामिक पार्टी कांग्रेस को पहचान लें नहीं तो एक भी हिन्दू जिंदा नहीं बचेगा। इस वीडियो को जरूर देखें।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने इस वीडियो के की-फ्रेम को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें ये वीडियो टाइम्स ऑफ इंडिया के पत्रकार जसकरण सिंह के अकाउंट पर जानकारी के साथ मिला।
  • 1 मई 2022 को जसकरण सिंह ने वीडियो शेयर कर लिखा- हरियाणा में कानून-व्यवस्था की स्थिति ‌भाजपा और जननायक जनता पार्टी की गठबंधन सरकार में चिंताजनक है। यमुनानगर में यह दूसरी ऐसी घटना है, जिसमें एक व्यक्ति को लोहे की रॉड और धारदार हथियारों से बेरहमी से पीटा गया।
  • पड़ताल के दौरान हमने ये वीडियो भास्कर की हरियाणा टीम को भेजा। उन्होंने हमें बताया कि वायरल वीडियो से जुड़ी पूरी खबर भास्कर ने अपनी वेबसाइट पर 5 दिन पहले पब्लिश की थी।
  • 1 मई 2022 की ये घटना हरियाणा के यमुनानगर के साढौरा के गांव सुल्तानपुर की है। जहां आपसी रंजिश के चलते कमलजीत उर्फ कामा पर दुकान में घुसकर 8-10 बदमाशों ने लोहे के पाइप, राॅड और गंडासियों से हमला कर दिया।
  • दरअसल, कुछ दिन पहले पीड़ित कामा ने पैसे की लेनदेन को लेकर रिक्की पर हमला किया था। उसका भी वीडियो बनाया था। तब रिक्की ने पुलिस को शिकायत नहीं की और बदला देने का फैसला किया था।
  • रविवार को रिक्की ने बदला लेने के लिए कामा पर हमला किया। रिक्की पर पहले ही पांच केस दर्ज हैं। इसमें एक केस हत्या के प्रयास का है। वहीं, कमलजीत पर साहा थाने में किडनैपिंग का केस दर्ज है।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह गलत है। ये घटना ना ही सांप्रदायिक है और ना ही राजस्थान की है। आपसी रंजिश की ये घटना हरियाणा के यमुनानगर की है।
खबरें और भी हैं...