• Hindi News
  • No fake news
  • In Meerut Police Station, The Police Put Up The Poster 'BJP Workers Are Not Allowed To Come To The Police Station'? Know Its Full Truth

फेक न्यूज एक्सपोज:मेरठ के थाने में पुलिस ने लगाया पोस्टर 'भाजपा कार्यकार्ताओं का थाने में आना मना है'? जानिए इसकी पूरी सच्चाई

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर जनपद मेरठ थाने की एक फोटो वायरल हो रही है। फोटो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग थाने की बाउंडरी पर होर्डिंग लगा रहे हैं। होर्डिंग पर लिखा- भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है, थाना प्रभारी संशरण सिंह।

दावा किया जा रहा है कि ये होर्डिंग भाजपा कार्यकर्ताओं से परेशान होकर थाना प्रभारी ने लगवाया है। अब्बास बिन मुख्तार अंसारी ने फोटो शेयर कर लिखा- इस तस्वीर से हालात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है की थाने के बाहर 'भाजपा कार्यकर्ताओं का थाने में आना मना है' का पोस्टर लगाना पड़ रहा है।

और सच क्या है?

  • वायरल फोटो के साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह गलत है। इस मामले से जुड़ी पूरी खबर 4 दिन पहले भास्कर ने अपनी वेबसाइट पर पब्लिश की थी।
  • मेरठ के मेडिकल थाने में शुक्रवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। थाने की बाउंड्रीवॉल पर एक होर्डिंग लगा दिया, जिसमें लिखा था कि यहां भाजपा कार्यकर्ताओं का आना मना है। इस लाइन के नीचे थानेदार संत शरण सिंह का नाम था। पूरे प्रकरण में एसएसपी के निर्देश पर होर्डिंग लगाने वाले लोगों पर एफआईआर दर्ज की थी।
  • पड़ताल के दौरान हमें मेरठ पुलिस के ट्विटर अकाउंट पर इस मामले से जुड़े दो पोस्ट मिले।
  • पहले पोस्ट में मेरठ पुलिस ने लिखा- थाना मेडिकल क्षेत्र में देवर भाभी के बीच चल रहे पारिवारिक विवाद में असामाजिक तत्वों द्वारा पुलिस पर कब्जा परिवर्तन कराने का अनुचित दबाव बनाया जा रहा था।
  • पोस्ट में आगे लिखा है- थाना द्वारा इस अवैधानिक कार्य में सहयोग ना किए जाने पर इन असामाजिक तत्वों ने पुलिस की छवि खराब करने के लिए खुद एक पोस्टर बनाकर चिपकाया। जिस पर लिखा था कि एक राजनीतिक विशेष दल का थाने में आना मना है।
  • इस मामले में कुछ लोगों की पहचान कर ली गई है, जिनका आपराधिक इतिहास भी मिला है। नियमानुसार अभियोग पंजीकृत कर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।
  • मेरठ पुलिस ने इस मामले में अपने ट्विटर अकाउंट पर एक और पोस्ट शेयर किया था।
  • पुलिस अधिकारी का वीडियो शेयर करते हुए लिखा- थाना मेडिकल पर हंगामा करने एवं आपत्तिजनक बैनर लगाने के सम्बन्ध में अ0सं0 212/22 धारा 147/352/353/505(2) और 7 CLA Act में वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपी 1. शंभू पहलवान उर्फ प्रशान्त कौशिक, 2. सागर पोसवाल, 3. कुलदीप मसूरी, 4. अंकुर चौधरी, 5. अमित भड़ाना, 6. अमर शर्मा को गिरफ्तार किया है।
खबरें और भी हैं...