• Hindi News
  • No fake news
  • In The Violence After Friday Prayers, The Policeman Said – MLAs Brought Bombs? Know The Truth Of This Viral Video

फेक न्यूज एक्सपोज:जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा में पुलिसकर्मी ने कहा- विधायक बम लेकर आए? जानिए इस वायरल VIDEO का सच

2 महीने पहले

क्या हो रहा है वायरल : पैगंबर मोहम्मद टिप्पणी विवाद के चलते शुक्रवार जुमे की नमाज को बाद देश के कई हिस्सों में हिंसा भड़क गई। अब इससे जोड़कर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में एक पुलिस अधिकारी को फोन पर यह कहते हुए सुना जा सकता है कि इन लोगों ने मुझे पत्थर मारा है सर। बम भी लेकर आए थे सर, ये बीजेपी वाले और विधायक भी है।

दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो पैगंबर मोहम्मद टिप्पणी विवाद के चलते हुई हिंसा का है। कानपुर में पुलिस वाले खुद कह रहे हैं कि बीजेपी MLA बम लेकर आए हैं।

शुक्रवार को हुई हिंसा के बाद ये वीडियो फेसबुक पर भी जमकर शेयर वायरल हुआ।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने इससे जुड़े की-वर्ड्स गूगल पर सर्च किए। सर्च रिजल्ट में हमें ये वीडियो खबर क्विंट हिंदी के यूट्यूब चैनल पर मिला।
  • चैनल के मुताबिक, 10 जुलाई 2021 का ये वीडियो यूपी के इटावा का है। जहां ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान कुछ लोगों ने फायरिंग और पत्थरबाजी की थी।
  • SSP इटावा ने बताया था कि कुछ लोग वोटिंग केंद्र के नजदीक आ गए। पुलिस ने उन्हें रोका तो उन्होंने फायरिंग और पत्थरबाजी शुरू कर दी। एक व्यक्ति ने SP को थप्पड़ तक मार दिया था।
  • ब्लॉक प्रमुख मतदान के दौरान SP और बीजेपी समर्थक आपस में भिड़ गए। ऐसे में पुलिस ने लाठीचार्ज किया और भाजपा समर्थकों को खदेड़ा था।
  • ये वीडियो क्विंट हिंदी के यूट्यूब चैनल पर खबर के साथ 11 जुलाई 2021 को अपलोड हुआ था।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। ये वीडियो पैगंबर विवाद के चलते हुई हिंसा के दौरान का नहीं बल्कि 1 साल पुराना यूपी के ब्लॉक प्रमुख चुनाव का है।