क्या आपको भी मिला मुकेश अंबानी की फ्री जियो टी-शर्ट वाला मैसेज, तो इसके चक्कर में मत पड़िए ये पूरी तरह फर्जी है

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • वॉट्सऐप पर वायरल मैसेज में दावा, 26 जनवरी को जियो के ग्राहकों को फ्री में मिलेगी टी-शर्ट
  • दावा है कि जिस किसी के पास भी जियो की सिम है, वो फ्री टी-शर्ट के लिए 23 जनवरी तक अप्लाय कर सकता है
  • पर सच तो ये है कि जियो ने इस तरह की कोई स्कीम नहीं चलाई, वॉट्सऐप पर आ रहा मैसेज फर्जी है

नो फेक न्यूज डेस्क. मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो ने काफी कम समय में ही 25 करोड़ से ज्यादा ग्राहक जोड़कर देश की तीसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बन चुकी है। एक तरफ जियो ने ये उपलब्धि हासिल की, वहीं दूसरी तरफ एक मैसेज तेजी से वॉट्सऐप पर वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि जियो के 25 करोड़ ग्राहक पूरे होने पर कंपनी की तरफ से 26 जनवरी को 5 लाख ग्राहकों को फ्री में टी-शर्ट बांटी जाएगी। इस मैसेज के साथ ही एक वेबसाइट की लिंक भी दी जा रही है, जिसपर 23 जनवरी तक रजिस्ट्रेशन करने को कहा जा रहा है।

 

हालांकि, हमारी पड़ताल में सामने आया कि रिलायंस जियो की तरफ से फ्री टी-शर्ट बांटने की कोई स्कीम नहीं चलाई जा रही है। इस मैसेज के साथ जिस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने की लिंक दी गई है, वो भी फर्जी है। इस वेबसाइट पर न ही क्लिक करें और न ही अपनी जानकारी दें, क्योंकि इससे आपका डेटा हैकर्स के पास जाने की संभावना है।


\"no

 

क्या है वायरल मैसेज में?
वॉट्सऐप पर आ रहे मैसेज में दावा किया गया है कि जियो के 25 करोड़ ग्राहक पूरे होने पर मुकेश अंबानी की तरफ से जियो के 5 लाख ग्राहकों को फ्री में टी-शर्ट बांटी जाएगी। इस मैसेज में लिखा है,

Jio के 25 करोड़ ग्राहक पूरे होने की खुशी में Jio के निर्माता मुकेश अंबानी जी ने इस 26 जनवरी के अवसर पर अपने 5 लाख ग्राहकों को फ्री टी-शर्ट उपहार में देने का वादा किया है तो अगर आपके पास भी जियो की सिम है तो अभी नीचे नीली रंग के लिंक पर क्लिक करके अपना फॉर्म भरें और फ्री टी-शर्ट प्राप्त करें।

 

http://jio-free-t-shirt.blogspot.com/

 

कृप्या ध्यान दें: अगर आपके परिवार में किसी भी सदस्य के पास jio की सिम है तो टी-शर्ट लेने के लिए आप उस सिम का भी प्रयोग कर सकते हो और फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 23 जनवरी है और सबसे टी-शर्ट 26 जनवरी से पहले मिल जाएगा।


पड़ताल : क्यों झूठा है ये मैसेज?

  • इस वायरल मैसेज की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस मैसेज के साथ दी गई वेबसाइट की लिंक http://jio-free-t-shirt.blogspot.com/ को ओपन किया, जिसके बाद एक पेज ओपन हुआ, जिसमें आवेदन करने की आखिरी तारीख 25 जनवरी लिखी थी। साथ ही ये भी लिखा था कि अब तक 3.5 लाख से ज्यादा फॉर्म आ चुके हैं।
  • इस पेज पर एक फॉर्म दिया गया था, जिसमें नाम, मोबाइल नंबर, पिन कोड, एड्रेस और टी-शर्ट का साइज पूछा गया था। हमने इन सभी कॉलम में गलत जानकारी भरी और जब \'अपना फॉर्म दर्ज करें\' के बटन पर क्लिक किया तो एक नया पेज खुल गया।
  • जो नया पेज खुला, उस पर लिखा था, \"वेरिफिकेशन के लिए आपको वॉट्सऐप पर 10 मित्रों को शेयर करना पड़ेगा।\" वॉट्सऐप पर शेयर करने के बाद नीचे नीले रंग की बटन पर क्लिक कर टी-शर्ट का ऑर्डर नंबर लेने की बात कही गई थी।

\"no

  • हमने जब कम्प्यूटर से ही वॉट्सऐप पर शेयर करने की बटन पर क्लिक किया और उसके बाद जब नीले रंग की बटन पर क्लिक किया तो हमें टी-शर्ट का ऑर्डर नंबर मिल गया। इसके बाद एक नया मैसेज आया, जिसमें लिखा था \"धन्यवाद, आपका ऑर्डर सफलतापूर्वक प्राप्त हो गया है। आपका ऑर्डर नंबर ASA977550ABK4 है। कृपया इसे सुरक्षित स्थान पर लिख दें।\"
  • इतना सब करने के बाद एक नया पेज खुला, जिसमें एक मोबाइल ऐप डाउनलोड कर मोबाइल नंबर वेरिफाय करने को कहा गया था। इसमें लिखा था, \"मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के बाद उसे 3.5 मिनट तक इस्तेमाल करें और उसके बाद वेरिफाय माय नंबर पर क्लिक करें।\"
  • इससे पता चलता है कि वायरल मैसेज के साथ जो लिंक दी गई थी, वो कितनी फर्जी है। इस लिंक पर क्लिक करने के बाद जानकारी मांगी गई और उसके बाद ऐप डाउनलोड करने को कहा गया। इसलिए इस लिंक पर भूलकर भी भरोसा न करें और न ही क्लिक करें।


क्या है खतरा और क्यों करती हैं वेबसाइट ऐसा?

  • इस तरह की वेबसाइट पैसे कमाने के लिए ही ऐसे फेक मैसेज फैलाती हैं। क्योंकि इन वेबसाइट पर एड (विज्ञापन) रहते हैं और जितने ज्यादा हिट्स आते हैं, उतनी ज्यादा कमाई होती है।
  • ऐसी वेबसाइट पर अपनी जानकारी देने का सबसे बड़ा खतरा यही है कि इनका गलत इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसी वेबसाइट हैकर्स लोगों का डेटा लेने के लिए भी करते हैं और उनकी जानकारी मिलते ही इसका गलत इस्तेमाल करते हैं।
  • दरअसल, लोगों के नाम, पिता का नाम, जन्मतिथि जैसी जानकारियों को जोड़कर उनके पासवर्ड का पता लगाया जा सकता है। आमतौर पर लोग भी अपने पासवर्ड अपना नाम, पिता का नाम या जन्मतिथि ही रखते हैं, इसलिए इस तरह की वेबसाइट पर अपनी निजी जानकारी देने से बचें।


दिसंबर 2018 तक जियो ने जोड़े 28 करोड़ से ज्यादा ग्राहक
हाल ही में रिलायंस जियो ने वित्त वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर तक) की रिपोर्ट जारी की है, जिसके मुताबिक तीसरी तिमाही में जियो ने 2.79 करोड़ ग्राहक अपने साथ जोड़े जिसके बाद जियो यूजर्स की संख्या बढ़कर 28.10 करोड़ पहुंच गई। सितंबर 2018 तक जियो के ग्राहकों की संख्या 25.3 करोड़ पहुंच गई थी।

 

\"no