फैक्ट चेक / जिस वीडियो को मप्र के इंदिरा सागर बांध का बताया जा रहा, वो कर्नाटक के गोरूर बांध का है



Karnataka Gorur Dam Video Is Being Circulated As Indira Sagar Dam In Madhya Pradesh
X
Karnataka Gorur Dam Video Is Being Circulated As Indira Sagar Dam In Madhya Pradesh

  • क्या वायरल : एक वीडियो। इसमें लिखा है कि 'श्री ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के इंदिरा सागर बांध परियोजना से माँ नर्मदा ज़ी का विकराल स्वरुप। नर्मदे हर...'
  • क्या सच : वायरल वीडियो कर्नाटक के हसन जिले में स्थित गोरूर बांध का है

Dainik Bhaskar

Oct 04, 2019, 04:15 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. देश के अधिकांश हिस्सों में हुई भारी बारिश के बाद अब बारिश से जुड़े वीडियो वायरल हो रहे हैं। एक वीडियो मप्र के इंदिरा सागर बांध के नाम से वायरल किया जा रहा है। यूजर्स का दावा है कि यहां मां नर्मदा का विकराल स्वरूप देखने को मिला। दैनिक भास्कर मोबाइल ऐप के एक पाठक ने हमें यह वीडियो सत्यता की जांच के लिए भेजा। पड़ताल में पता चला कि सोशल मीडिया का दावा गलत है। 

 

क्या वायरल

 

 

  • इंदौर न्यूज नाम के फेसबुक पेज से यह वीडियो शेयर किया गया। इसमें लिखा है कि 'श्री ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के इंदिरा सागर बांध परियोजना से माँ नर्मदा ज़ी का विकराल स्वरुप। नर्मदे हर...'

 

क्या है सच्चाई

  • गूगल रिवर्स सर्च से पता चला कि यह वीडियो 4 अगस्त 2018 को अपलोड किया गया था। इसमें लिखा था कि पानी का स्तर बढ़ जाने के चलते केआरएस बांध के गेट खोले गए। 

 

  • इसके बाद हमने केआरएस गेट के नाम से कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इसमें द हिंदू का 14 जुलाई 2018 को प्रसारित आर्टिकल मिला। इसमें जो फोटो लगी है, वो वायरल वीडियो में दिख रहे डैम के जैसी ही है। खबर में लिखा है कि केआरएस जलाशय के गेट खोले गए। इस मौके पर बड़ी संख्या में लोग नजारा देखने पहुंचे। 
  • फिर हमने हेमवती जलाशय के नाम से सर्चिंग की। हमें 11 अगस्त 2019 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला। इसमें लिखा था कि 'गोरूर डैम भर गया है'। 

 

  • फिर हमने गूगल मैप्स पर हेमवती जलाशय गोरूर डैम के नाम से सर्चिंग की तो वही फोटो मिली जो वायरल वीडियो में दिख रही है। 
  • बांध की तस्वीरें कर्नाटक के हसन जिले की आधिकारिक सरकारी वेबसाइट पर भी देखी जा सकती हैं। 
  • पूरी पड़ताल से यह स्पष्ट होता है कि वायरल वीडियो गोरूर डैम का है, जो कर्नाटक के हसन जिले में स्थित है। इसे मप्र का इंदिरा सागर बांध बताए जाने का दावा गलत है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना