• Hindi News
  • No fake news
  • Liquor Distribution Fiercely In The Farmers' Movement, The Video Is Going Viral; Know The Full Truth Of This Video

फेक न्यूज एक्सपोज:किसान आंदोलन में जमकर बंटी शराब, वीडियो हो रहा वायरल; जानिए इस वीडियो का पूरा सच

एक महीने पहले

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन के नाम से दो वीडियो वायरल हो रहे हैं। पहले वीडियो में कुछ लोग नीले रंग की टंकी में शराब की बोतल खाली करते हुए नजर आ रहे हैं। वहीं, दूसरी वीडियो में कुछ लोग भीड़ को शराब बांटते हुए दिख रहे हैं।

दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो किसान आंदोलन का है। ये वीडियो जांच के लिए हमें भास्कर हेल्पलाइन पर भी मिले।

एक यूजर ने वीडियो शेयर कर लिखा, किसान को देखो, आप खुद अंदाजा लगाइए कि वे वास्तव में ये किसान हैं या नहीं। इस वीडियो को 12 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं और 45 हजार से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने दोनों वीडियो क्लिप को ध्यान से देखा। वीडियो में हमें किसान आंदोलन का बोर्ड, झंडा या कोई क्लू नहीं मिला।
  • पड़ताल के दौरान वायरल वीडियो के कमेंट सैक्शन में हमें कई लोगों के कमेंट दिखे जिन्होंने लिखा है कि ये वीडियो पंजाब के बाबा रोडू शाह की दरगाह का है।
  • पड़ताल के अगले चरण में हमने लुधियाना के काउंके में स्थित बाबा रोडू शाह की दरगाह के प्रबंधक प्रदीप सिंह (बिल्लू) से संपर्क कर उन्हें ये वीडियो पुष्टि के लिए भेजा।
  • प्रदीप सिंह ने भास्कर को बताया कि ये वीडियो 6 सितंबर को दरगाह में हुए शराब लंगर का ही है। इस दरगाह में कई सालों से लोग मन्नत पूरी होने पर शराब चढ़ाते हैं और प्रसाद के रूप में पर फिर ये लोगों में बांट दी जाती है।
  • पड़ताल के दौरान हमें जर्नेल सिंह नाम के सोशल मीडिया अकाउंट पर 6 सितंबर का फेसबुक लाइव मिला। 6 सितंबर का ये फेसबुक लाइव बाबा रोडू शाह की दरगाह का है।
  • इस फेसबुक लाइव में हमें वायरल वीडियो से जुड़े समान दृश्य दिखे।
  • पड़ताल के दौरान हमें फैक्ट चेक वेबसाइट अल्ट न्यूज पर भी वायरल वीडियो से जुड़ी खबर मिली। अल्ट न्यूज ने वायरल वीडियो का फैक्ट चेक कर बताया था कि ये वीडियो किसान आंदोलन का नहीं है।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। ये वीडियो किसान आंदोलन का नहीं बल्कि 6 सितंबर को बाबा रोडू शाह दरगाह में हुए शराब लंगर का है।