पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फेक न्यूज एक्सपोज:म्यांमार की 3 साल पुरानी सांप्रदायिक हिंसा की घटना को कोलकाता का बता कर किया जा रहा वायरल

9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक न्यूज चैनल का वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है। वीडियो में एंकर ने बताया कि मुंगडा जिले में रोहिंग्या मुस्लमानों ने हिंदूओं की हत्या की। इस जिले में 45 से ज्यादा शव बरामद हुए और 1 हजार से ज्यादा हिंदू लापता हैं।

दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो कलकत्ता के एक छोटे से गांव का है। जहां एक हजार से हिंदू गायब हो गए हैं। इस गांव में अब तक बच्चे और बड़े मिला कर 45 शव बरामद किए गए हैं। यहां रोहिंग्या मुसलमानों ने हिंदूओं का कत्ल कर दिया है।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने इससे जुड़े की-वर्ड्स गूगल पर सर्च किए। सर्च रिज्लट में हमें जी न्यूज के यूट्यूब चैनल पर वायरल वीडियो क्लिप का पूरा वीडियो मिला​।
  • चैनल पर मौजूद 38 मिनट का ये वीडियो 3 साल पुराना है और हिंदुओं की सामूहिक हत्या का ये मामला म्यांमार के रखाइन प्रांत का है। इस न्यूज कवरेज में बताया गया है कि रोहिंग्या मुस्लमानों ने हिंदूओं की हत्या की।
  • पड़ताल के दौरान BBC न्यूज वेबसाइट पर हमें इस मामले से जुड़ी पूरी खबर मिली। खबर के मुताबिक, अगस्त 2017 में रोहिंग्या और बौद्ध समाज के लोगों के बीच अतीत में घातक सांप्रदायिक हिंसा हुई। इस दौरान रोहिंग्या ​​​​​​​समाज के लोगों ने 30 से ज्यादा पुलिस चौकियों पर हमला किया​​​​​​​। जिसमें 12 सुरक्षाकर्मियों की जान चली गई थी
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर न्यूज चैनल के वीडियो क्लिप के साथ किया जा रहा दावा गलत है। ये मामला कोलकाता का नहीं, 2017 म्यांमार का है।
खबरें और भी हैं...