पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

फेक नहीं है ऐसा 500 रु का नोट, जिसमें हरी पट्‌टी गांधीजी के चित्र के एकदम समीप है

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्या वायरल : \'कृपया 500 रुपए का ऐसा नोट स्वीकार्य न करें जिसमें हरी पट्‌टी गांधीजी के चित्र के समीप है क्योंकि यह जाली है
  • क्या सच : आरबीआई की तरफ से ऐसी कोई बात नहीं कही गई। सोर्सेज ने बताया झूठा है सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया में 500 रुपए के नोट को लेकर एक चेतावनी वायरल की जा रही है। इसमें लिखा गया है कि ऐसे 500 रुपए के नोट स्वीकार्य न करें, जिसमें ग्रीन स्ट्रिप (हरी पट्‌टी) महात्मा गांधी के चित्र के समीप बनी है। यह नोट जाली हैं। एक पाठक ने सोशल मीडिया में वायरल हो रही इस इमेज की सच्चाई जाननी चाही। पड़ताल में पता चला कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा झूठा है। 
 

क्या वायरल 

  • 500 रुपए के नोट की एक फोटो।
  • फेसबुक पर एक यूजर ने इसे शेयर करते हुए लिखा है कि \'कृपया 500 रुपए का ऐसा नोट स्वीकार्य न करें जिसमें हरी पट्‌टी गांधीजी के चित्र के समीप है क्योंकि यह जाली है।\'
  • ऐसा नोट स्वीकार्य करें जिसमें हरी पट्‌टी गवर्नर के हस्ताक्षर के समीप है।
  • यूजर्स इस मैसेज को परिवार और दोस्तों के बीच ज्यादा से ज्यादा वायरल करने की अपील कर रहे हैं।
  • ट्विटर पर इसे काफी पहले से वायरल किया जा रहा है।

क्या है सच्चाई

  • रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के सोर्स के मुताबिक, सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा झूठा है।
  • आरबीआई ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर भी 500 रुपए के नोट को लेकर जो फीचर जारी किए हैं, उसमें हरी पट्‌टी और गांधीजी के पोट्रेर्ड की दूरी को लेकर कोई बात नहीं लिखी।
  • आरबीआई ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर 500 रुपए के नोट के हर एक फीचर के बारे में विस्तार से बताया गया है। इसमें ये भी बताया गया है कि फेक करेंसी को कैसे पहचानें। इसमें कहीं भी हरी पट्‌टी और गांधीजी के पोट्रेर्ड के डिस्टेंस को लेकर कोई बात नहीं लिखी गई। इससे यह बात साबित होती है कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा फेक है।
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज पिछली कुछ कमियों से सीख लेकर अपनी दिनचर्या में और बेहतर सुधार लाने की कोशिश करेंगे। जिसमें आप सफल भी होंगे। और इस तरह की कोशिश से लोगों के साथ संबंधों में आश्चर्यजनक सुधार आएगा। नेगेटिव-...

और पढ़ें