• Hindi News
  • No fake news
  • PM Modi G7 summit | No Fake News: french president emmanuel macrons said India should be a member of G7

फैक्ट चेक / फ्रांस राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ऐसा नहीं कहा कि, दुनिया में भारत के बिना अब कोई काम नहीं हो सकता



PM Modi G7 summit | No Fake News: french president emmanuel macrons said India should be a member of G7
X
PM Modi G7 summit | No Fake News: french president emmanuel macrons said India should be a member of G7

  • क्या वायरल : फ्रांस राष्ट्रपति  इमैनुएल मैक्रों का नाम लिखकर एक मैसेज '#भारत को G-7 का मेम्बर होना चाहिए,कोई काम अब भारत के बिना #दुनिया में नहीं हो सकता-#फ्रांस_राष्ट्रपति।' वायरल किया जा रहा है
  • क्या सच : फ्रांस भारत को G-7 शिखर सम्मेलन में शामिल करना चाहता है लेकिन फ्रांस राष्ट्रपति ने ऐसा नहीं कहा कि भारत के बिना #दुनिया में नहीं हो सकता

Dainik Bhaskar

Aug 31, 2019, 01:02 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया में एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि फ्रांस भारत को जी-7 का मेम्बर बनाना चाहता है और फ्रांस ने कहा है कि दुनिया में अब कोई काम भारत के बिना नहीं हो सकता। मोदी समर्थक इसे ट्विटर, फेसबुक पर शेयर कर रहे हैं। एक पाठक ने हमें यह मैसेज सत्यता की जांच के लिए भेजा। पड़ताल में पता चला कि फ्रांस भारत को जी-7 में तो शामिल करना चाहता है लेकिन उसके द्वारा ऐसा कहीं नहीं कहा गया कि अब दुनिया में भारत के बिना कोई काम नहीं हो सकता। 

 

क्या वायरल

  • ट्विटर पर एक यूजर @Athul_Misra ने लिखा कि '#भारत को G-7 का मेम्बर होना चाहिए,कोई काम अब भारत के बिना #दुनिया मे नही हो सकता-#फ्रांस_राष्ट्रपति।'

 

  • देव भूमी भारत नाम के फेसबुक पेज से भी इसे शेयर किया गया है। यहां से 27 अगस्त को शेयर हुई इस पोस्ट को 119 बार से ज्यादा शेयर किया जा चुका है।
इसे फेसबुक पर भी काफी वायरल किया जा रहा है।

 

क्या है सच्चाई

  • पीएम की फ्रांस यात्रा पर भारत और फ्रांस द्वारा एक संयुक्त वक्तव्य जारी किया गया था। इसे विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट भी किया था। 
  • इसमें कहीं भी ऐसी कोई बात नहीं लिखी कि, फ्रांस ने ऐसा कहा हो कि अब दुनिया में भारत के बिना कोई काम नहीं हो सकता। 
  • विदेश मंत्रालय की वेबसाइट https://mea.gov.in पर हिंदी भाषा में भी भारत-फ्रांस संयुक्त वक्तव्य अपलोड किया गया है। यहां भी सोशल मीडिया में किए जा रहे दावे का कोई जिक्र नहीं है। 
विदेश मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर संयुक्त वक्तव्य देखा जा सकता है।

 

  • संयुक्त वक्तव्य में ये जरूर लिखा है कि फ्रांस जी-7 शिखर सम्मेलन में भारत को जोड़ना चाहता है। 
फ्रांस भारत को जी-7 शिखर सम्मलेन में जोड़ना चाहता है।

 

  • इससे साबित होता है कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा झूठा है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना