• Hindi News
  • No fake news
  • No Fake News: Fact Check On Narendra Modi No WhatsApp Letter About Purchase Indian Products In Diwali

फैक्ट चेक / मोदी के नाम से दीवाली की अपील वाला फर्जी पत्र वायरल, कई गलतियां है पत्र में, पीएम ने नहीं की ऐसी कोई अपील

No Fake News: Fact Check  On Narendra Modi No WhatsApp Letter About Purchase Indian Products In Diwali
X
No Fake News: Fact Check  On Narendra Modi No WhatsApp Letter About Purchase Indian Products In Diwali

  • क्या वायरल : पीएम मोदी के हस्ताक्षर वाला फर्जी लेटर। इसमें लिखा है कि, पीएम ने दीपावली पर मेड-इन इंडिया प्रोडक्ट्स खरीदने की अपील की है
  • क्या सच : ऐसा कोई लेटर पीएम द्वारा जारी नहीं किया गया। पीएमओ खुद ही सोशल मीडिया में वायरल होने वाले इस तरह के पत्रों को फर्जी बता चुका है

दैनिक भास्कर

Aug 20, 2019, 01:47 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से एक पत्र सोशल मीडिया में वायरल किया जा रहा है। इसमें लोगों से अपील की जा रही है कि वे दीपावली पर सिर्फ भारत में बने प्रोडक्ट्स ही खरीदें। इसमें पीएम मोदी के हस्ताक्षर भी कर दिए गए हैं। कुछ पाठकों ने हमें यह पत्र भेजा और इसकी सत्यता जाननी चाही। पड़ताल में पता चला कि यह पत्र फर्जी है। पीएम मोदी की तरफ से ऐसी कोई अपील नहीं की गई। 

 

क्या वायरल

  • पीएम मोदी के नाम का एक लेटर। 
यह लेटर पीएम मोदी के नाम से वायरल किया जा रहा।


इसमें लिखा है 'मेरे प्यारे भारत वासियों आप सब इस बार इतना करें कि आने वाले दीपावली पर्व पर अपने घरों में रौशनी सजावट, मिठाई इन सब में केवल भारत में बनी सामग्री का प्रयोग करें। आशा करता हूं आप इस प्रधान सेवक की बात को जरूर मानेंगे। आप छोटे-छोटे कदमों से अगर मेरा साथ दो तो मैं आप से वादा करता हूं हमारे भारत को दुनिया की सबसे आगे वाली पंक्ति में प्रथम स्थान पर खड़ा पाओगे'

  • इस पत्र में नीचे पीएम मोदी का नाम लिखकर हस्ताक्षर भी बना दिए गए हैं।

क्या है सच्चाई

  • सोशल मीडिया में वायरल हो रहे लेटर को रिवर्स सर्च करने पर हमें पीएमओ द्वारा 2016 में किया गया आधिकारिक ट्वीट मिला। इससे पता चला कि सोशल मीडिया में वायरल किया जा रहा लेटर फेक है।
  • पीएमओ द्वारा पहले भी पुष्टि की जा चुकी है कि इस तरह के फेक डॉक्युमेंट्स सोशल मीडिया में वायरल किए जा रहे हैं। 

 

  • वेब में पीएम नरेंद्र मोदी के फाइल सिग्नेचर मौजूद हैं। ऐसे में कोई आसानी से चालबाजी करके फोटो सॉफ्टवेयर से उनके सिग्नेचर कहीं भी चस्पा कर सकता है।
पीएम मोदी के सिग्नेचर वेब पर मौजूद हैं।

 

  • सोशल मीडिया में वायरल किए जा रहे लेटर में संभवत यहीं से पीएम के हस्ताक्षर चुराए गए होंगे। 
  • पीएम मोदी ने दीपावली पर मेड-इन इंडिया प्रोडक्ट खरीदने की कोई अपील नहीं की। इस बारे में उनके आधिकारिक ट्विटर अकाउंट या अन्य कहीं भी कुछ नहीं कहा गया।
  • वायरल हो रहे पत्र में हिंदी की भी तमाम गलतियां हैं, जबकि पीएमओ द्वारा जारी पत्र में छोटी-छोटी बातों का भी बहुत ध्यान रखा जाता है। इससे यह साबित होता है कि सोशल मीडिया में वायरल किया जा रहा पत्र फर्जी है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना