पुलवामा के बाद व्हाट्सएप डीपी पर आईएस हैकर्स की नजर, नकली पुलिस कमिश्नर के नाम से मैसेज वायरल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • व्हाट्सएप डीपी शेयर करने का कंट्रोल यूजर के हाथ में होता है, वह न चाहे तो कोई देख नहीं सकता।
  • हैकर के लिए व्हाट्सएप डीपी की बजाय फेसबुक के फोटो हैक करना ज्यादा आसान है।
  • जिस नकली कमिश्नर एके मित्तल का नंबर दिया है वह भी फर्जी है।

नो फेक न्यूज डेस्क.  पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही कई तरह की फर्जी खबरें तेजी से फैल रही हैं। हमले के सीसीटीवी वीडियो, सेना के एनकाउंटर का वीडियो, जवानों की मदद के लिए अकाउंट नबंर आदि फर्जी खबरों के बाद अब एक मैसेज व्हाट्सएप पर फॉरवर्ड किया जा रहा है।

 

इस मैसेज में व्हाट्सएप पर लगी डीपी यानी डिस्प्ले पिक्चर तुरंत बदलने की सलाह दी जा रही है। कहा जा रहा है कि ISIS के हैकर्स आपकी फोटो को डाउनलोड करके उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। मैसेज के आखिर  में दिल्ली कमिश्नर एके मित्तल का नाम दिया गया है।

 

\"\'\'\"

 

हालांकि हमारी पड़ताल में यह मैसेज पूरी तरह झूठा और फर्जी निकला है। यही मैसेज कुछ साल पहले भी बहुत वायरल हुआ था। और अब एक बार फिर  लोगों को गुमराह किया जा रहा है।

 

\"\'\'\"

 

दावा- व्हाट्सएप पर लगी प्रोफाइल फोटो बदल लें, हैकर्स कर सकते हैं गलत इस्तेमाल

व्हाट्सएप पर शेयर किए जा रहे इस मैसेज में दिल्ली के कमिश्नर एके मित्तल जनता से अपील कर रहे हैं कि वे व्हाट्सएप पर लगी अपनी प्रोफाइल फोटो बदल लें, क्योंकि आतंकी और हैकर्स उसका गलत इस्तेमाल कर सकते हैं। 

 

इसलिए झूठा है यह मैसेज

यह मैसेज पूरी तरह झूठा है। यह मैसेज हर बड़ी आंतकी घटना के बाद व्हाट्सएप पर खूब शेयर होता है और हर बार इसे किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति या पुलिस अधिकारी के नाम से भेजा जाता है ताकि लोग इस पर यकीन करें। अभी यह अपील ए.के. मित्तल के नाम से की जा रही है जबकि कुछ समय पहले व्हाट्सएप के सीईओ के नाम से भेजी गई थी।

 

अपनी डीपी पर कंट्रोल है आपका 

व्हाट्सऐप के मैसेज इनक्रिप्शन सिक्यूरिटी फीचर के बाद ऐसा संभव नहीं है कि कोई व्यक्ति आपका अकाउंट हैक कर ले या बिना आपकी मर्जी के मैसेज पढ़ ले। सीधी सी बात है कि अगर कोई हैकर आपका अकाउंट हैक कर सकता है तो वह सिर्फ आपकी डीपी का ही गलत इस्तेमाल क्यों करेगा, जबकि उसके पास आपकी सभी मीडिया फाइल का एक्सेस होगा । व्हाट्सएप पर यूजर्स की सुरक्षा के लिए कई फीचर्स मौजूद हैं। इनमें एक फीचर यह भी है कि आप अपनी डीपी अपनी मर्जी से शेयर कर सकते हैं। अगर आप इसे पब्लिक नहीं रखना चाहते तो आप सेटिंग बदल कर इसे अपने फोन कॉन्टेक्ट या सिर्फ खुद के लिए सीमित कर सकते हैं।

 

दिल्ली में ए.के. मित्तल नाम के कोई कमिश्नर नहीं

रही बात दिल्ली कमिश्नर की, तो इस समय दिल्ली कमिश्नर का पद अमूल्य पटनायक संभाल रहे हैं। पड़ताल में हमने पाया कि 1980 से लेकर अब तक एके मित्तल नाम के किसी भी व्यक्ति ने दिल्ली कमिश्नर का पद नहीं संभाला है। मैसेज में एके मित्तल का कॉन्टेक्ट नबंर भी दिया गया है। इस नबंर पर कॉल करने पर नबंर बंद आ रहा है। ट्रू-कॉलर पर यह नबंर अरशद अली के नाम से रजिस्टर है और इसे 1800 लोगों ने स्पैम रिपोर्ट किया है।
दिल्ली पुलिस की वेबसाइट पर अब तक के सभी कमिश्नर्स की जानकारी देखने के लिए क्लिक करें।

 

\"\'\'\"

खबरें और भी हैं...