फैक्ट चेक / चिदंबरम के बेटे का दावा गलत, मोदी के नाम पर जिस फोटो को ममलापुरम का बताया वह असल में स्कॉटलैंड का है

No Fake News: Fake Photo! Karti Chidambaram On PM Narendra Modi Mamallapuram beach
X
No Fake News: Fake Photo! Karti Chidambaram On PM Narendra Modi Mamallapuram beach

  • क्या वायरल : तीन फोटो वायरल हो रही हैं। इसमें दो पीएम मोदी की हैं और एक कैमरा क्रू की है। फोटो से यह बताने की कोशिश की गई है कि, पीएम का ममलापुरम बीच पर सफाई अभियान एक फोटो शूट था
  • क्या सच : जिस कैमरा क्रू को ममलापुरम का बताया जा रहा है, वास्तव में वह स्कॉटलैंड की है और 14 साल पुरानी है

दैनिक भास्कर

Oct 14, 2019, 01:58 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. पिछले कुछ दिनों से पीएम नरेंद्र मोदी का तमिलनाडु के ममलापुरम बीच पर सफाई करते हुए वीडियो वायरल हो रहा है। कोई जागरुकता के लिए पीएम की तारीफ कर रहा है तो कोई इसे पीआर प्रोपोगेंडा बता रहा है। इन्हीं सबके बीच तमिलनाडु की शिवगंगा से कांग्रेस सांसद कार्ती चिदंबरम का ट्वीट भी चर्चा में आ गया है। एक पाठक ने हमें कार्ती चिदंबरम द्वारा ट्वीट की गई फोटोज की सच्चाई का पता लगाने के लिए भेजीं। जानिए इसकी पूरी हकीकत। 

 

क्या वायरल

  • कार्ती चिदंबरम ने तीन फोटो ट्वीट की। इसमें से दो में पीएम सफाई करते नजर आ रहे हैं तो एक फोटो में कैमरा लिए कुछ लोग खड़े नजर आ रहे हैं। कार्ती चिदंबरम ने ट्वीट के साथ कैप्शन में जय श्रीराम लिखा है।

 

  • कार्ती चिदंबरम पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे हैं, जो इस वक्त तिहाड़ जेल में हैं।

 

क्या है सच्चाई

  • पड़ताल में पता चला कि कार्ती चिदंबरम द्वारा ट्वीट की गईं फोटो गुमराह करने वाली हैं। वायरल फोटो में नजर आ रहा कैमरा क्रू पीएम मोदी के बीच पर सफाई अभियान से जुड़ा नहीं है। 
  • यह फोटो 14 साल पुरानी है, जो वेस्ट सैंड्स समुद्र तट, स्कॉटलैंड की है। फोटो में नजर आ रहे लोग टीवी प्रोडक्शन टीम का हिस्सा थे।

कैसे पता चली सच्चाई

  • फोटो में नजर आ रहे क्रू मेम्बर्स विदेशी दिख रहे हैं। 
  • कुछ ट्वीटर यूजर ने कार्ती चिदंबरम की पोस्ट पर ही वायरल हो रही पिक्चर पोस्ट कीं, जो पहले Tayscreen पर लग चुकी हैं। 

 

  • Tayscreen एक स्कॉटलेंड का संगठन है, जो वहां की सरकार से जुड़े मीडिया प्रोडक्शन एक्टिविटी के काम करता है। 
  • Tayscreen की वेबसाइट पर उपलब्ध इस फोटो को रिवर्स सर्च करने पर पता चला कि यह स्कॉटलेंड के वेस्ट सैंड्स बीच की हैं। 
  • सैटेलाइट इमेज और गूगल स्ट्रीट व्यू के जरिए हमने वायरल फोटो के बैकग्राउंड में नजर आ रहीं दो मीनारें की पहचान भी की। यह स्कॉटलैंड की हैं। 
वायरल इमेज का सच।

 

  • इन ऐतिहासिक मीनारों को वेस्ट सैंड्स बीच से देखा जा सकता है। यही दो मीनारें वायरल फोटोज में भी नजर आ रही हैं। 
  • सभी तथ्यों के आधार पर इस बात की पुष्टि होती है कि कार्ती चिदंबरम द्वारा पोस्ट की गई फोटो लोगों को गुमराह करने वाली हैं। यह चेन्नई के ममलापुरम की नहीं बल्कि स्कॉटलैंड के एक बीच की हैं, जो 2005 में क्लिक की गईं थीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना