शराब पीने से कोरोना वायरस के खत्म होने का दावा झूठा, डब्ल्यूएचओ ने गाइडलाइन जारी कर बताए सुरक्षा के उपाय

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्या वायरल : एक अखबार की कटिंग शेयर कर दावा किया गया है कि, अल्कोहल लेने से कोरोना वायरस खत्म हो जाता है
  • क्या सच : डब्ल्यूएचओ ने हाथों को साफ करने के लिए अल्कोहल बेस्ड हैंडवॉश को इस्तेमाल करने की बात कही है। शराब पीने से कोरोना वायरस के खत्म होने की बात झूठी है

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया पर दावा किया गया है कि, अल्कोहल से कोरोना वायरस को खत्म किया जा सकता है। एक अखबार की कटिंग शेयर कर लिखा जा रहा है कि, शराब पीने वालों को कोरोना वायरस नहीं होगा। एक पाठक ने हमें यह कटिंग पुष्टि के लिए भेजी। पड़ताल में वायरल दावा झूठा निकला। 

क्या वायरल

  • सोशल मीडिया पर शिवसेना के मुखपत्र सामना में प्रकाशित एक खबर को वायरल किया गया है।
  • खबर का शीर्षक है 'अब कैस रोना! एक पैग में पैक होगा कोरोना!'
  • एक यूजर ने इसे शेयर करते हुए लिखा कि, दारू पीने वालों को नहीं होगा कोरोना वायरस।
  • इस आर्टिकल को 14 फरवरी 2020 को प्रकाशित किया गया है।

क्या है सच्चाई

  • इस दावे की सच्चाई के लिए सबसे पहले हमने वायरल खबर में दी जा रही जानकारी की ही पुष्टि की। खबर में लिखा है कि, 'एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि एक पैग में पैक हो जाएगा कोरोना। यह कोई मजाक नहीं बल्कि जर्मनी में इस बारे में शोध हुआ है'। हालांकि इसमें इस बात का कहीं भी जिक्र नहीं किया गया कि, यह रिसर्च आखिर की किसने है। शीर्षक एक्स्क्लमेशन (विस्मयादिबोधक) चिन्ह के साथ लिखा गया है।
  • दावा है कि कोरोना वायरस महज 15 सेकंड में इधर से उधर फैल जाता है। इस तथ्य की पुष्टि करने वाली भी कोई भी थ्योरी अभी तक सामने नहीं आई।
  • फिर हमने इस तथ्य की पुष्टि के लिए वर्ल्ड हेल्थ ओर्गनाइजेशन (WHO) द्वारा कोरोना वायरस को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस को खंगाला।
  • डब्ल्यूएचओ ने कोरोना से बचाव को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस में अल्कोहल का जिक्र तो किया है, लेकिन कहीं भी ये नहीं लिखा कि अल्कोहल कन्सम्प्शन (शराब पीने) से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है।
  • डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, अपने हाथों को साबुन और पानी से बार-बार धोएं और गंदा होने पर अल्कोहल बेस्ड हेंडवॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं, इससे हाथों में आए वायरस खत्म हो जाते हैं, इसलिए इसके इस्तेमाल की सलाह दी गई है।
  • नोवल कोरोना वायरस अब तक दुनियाभर में 2012 लोगों को अपना शिकार बना चुका है। चीन के साथ ही फ्रांस, हॉन्गकॉन्ग, जापान, फिलिपींस और ताइवान में भी यह फैल रहा है।

निष्कर्ष : पड़ताल से स्पष्ट होता है कि, शराब पीने से कोरोना वायरस के खत्म होने की बात झूठी है।