फैक्ट चेक / दावा- 18 से 31 मार्च के बीच सरकार ने दिए कहीं न आने-जाने के आदेश, पीआईबी ने बताई सच्चाई

No Fake News On National Security Council issue restricted movement order
X
No Fake News On National Security Council issue restricted movement order

  • क्या वायरल : नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल, प्राइम मिनिस्टर्स ऑफिस के नाम से लेटर वायरल हुआ है। इसमें दावा किया गया है कि, सरकार ने 18 से 31 मार्च के बीच कहीं न आने-जाने के आदेश दिए हैं
  • क्या सच : नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल ने ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया। पीआईबी ने इसका खंडन किया है

दैनिक भास्कर

Mar 19, 2020, 05:59 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के नाम से एक प्रेस रिलीज वायरल की जा रही है। इसमें दावा किया गया है कि 18 से 31 मार्च के बीच आप कहीं आना-जाना नहीं कर सकते। जानिए इस वायरल दावे का सच। 

क्या वायरल

  • इस लेटर को 'नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल, प्राइम मिनिस्टर्स ऑफिस' के नाम से वायरल किया गया है। इस पर 18 मार्च की तारीख लिखी है। 
  • इसमें लिखा है कि, जैसा कि आप जानते हैं कि सरकार ने 18 से 31 मार्च तक रिस्ट्रिक्टेड मूवमेंट ऑर्डर जारी किया है। 
  • वायरल लेटर में ये भी लिखा है कि, इस ऑर्डर को लागू करवाने के लिए 17 मार्च को मीटिंग हुई थी। कुछ अधिकारियों को इससे छूट दी गई है। यह ऑर्डर 18 मार्च को रात 12 बजे से लागू हो जाएगा। 

क्या है सच्चाई

  • भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) ने खुद अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस दावे का खंडन किया है। 
  • पीआईबी ने ट्विट करते हुए कहा कि, यह प्रेस रिलीज नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल द्वारा जारी नहीं की गई है। यह गलत इरादों के साथ डर फैलाने के लिए वायरल की गई है। इस तरह के फर्जी दावों पर यकीन न करें। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना