• Hindi News
  • No fake news
  • No Fake News On PM Modi Make Mistake By Claiming That Only 2200 Professionals Declared Their Income Above Rs 1 Crore

फैक्ट चेक / सही है सिर्फ 2200 पेशेवरों द्वारा 1 करोड़ से अधिक की आय का खुलासा करने की बात, डाटा से यूजर्स हो गए कन्फ्यूज

No Fake News On PM Modi Make Mistake By Claiming That Only 2200 Professionals Declared Their  Income Above Rs 1 Crore
X
No Fake News On PM Modi Make Mistake By Claiming That Only 2200 Professionals Declared Their  Income Above Rs 1 Crore

  • क्या वायरल : बीजेपी द्वारा किए गए एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल। यूजर्स लिख रहे हैं कि पीएम के हवाले से लिखी गई यह जानकारी गलत है कि देश में महज 2200 लोगों ने अपनी आय 1 करोड़ रुपए से ज्यादा घोषित की
  • क्या सच : आयकर विभाग ने मुताबिक, 2200 पेशेवरों ने ही अपने पेशे से होने वाली आय 1 करोड़ से अधिक बताई है

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 11:59 AM IST

फैक्ट चेक डेस्क. बीजेपी ने पीएम मोदी के हवाले से ट्वीट करते हुए जानकारी दी है कि, पिछले पांच सालों में 1.5 करोड़ से ज्यादा हाई एंड कारें बिकीं। 3 करोड़ से ज्यादा भारतीय विदेश गए। सिर्फ 1.5 करोड़ भारतीयों ने टैक्स जमा किया। इनमें से सिर्फ 3 लाख लोगों ने अपनी आय 50 लाख से ज्यादा और महज 2200 लोगों ने अपनी आय 1 करोड़ रुपए से ज्यादा बताई। यह चौंकाने वाला है। कई यूजर्स ने बीजेपी द्वारा दी गई इस जानकारी को गलत बताया है। जानिए इसकी सच्चाई क्या है। 

क्या वायरल

  • एक यूजर ने बीजेपी के ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए लिखा कि, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा जारी किए गए डाटा के मुताबिक, 2018-19 में 97 हजार 689 लोगों ने अपनी इनकम 1 करोड़ से ज्यादा घोषित की। यूजर ने लिखा कि, बीजेपी ने 2200 का आंकड़ा दिया है, जो लोग पीएम को स्पीच के लिए इनपुट्स उपलब्ध करवाते हैं, उन्हें इस तरह की गलती नहीं करनी चाहिए। 

क्या है सच्चाई

  • पड़ताल में पता चला कि बीजेपी द्वारा शेयर किया गया डाटा फर्जी नहीं है लेकिन इसे गलत समझा गया है। 
  • इस मुद्द के उठने के बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एक के एक कई ट्वीट कर स्पष्टीकरण दिया। 
  • आयकर विभाग के मुताबिक, मौजूदा वित्तीय वर्ष में केवल 2200 डॉक्टर्स, सीए, लॉयर्स जैसे पेशेवरों ने अपने पेशे से 1 करोड़ से अधिक वार्षिक आय का खुलासा किया। इसमें दूसरे कई आय स्त्रोत जैसे किराया, ब्याज, पूंजीगत लाभ जैसे अन्य स्त्रोत शामिल नहीं हैं। 
  • विभाग ने ट्वीट कर बताया कि, 1.03 करोड़ व्यक्तियों ने आय 2.5 लाख रुपए और 3.29 करोड़ व्यक्तियों ने अपनी आय 2.5 लाख से 5 लाख के बीच होने का खुलासा किया है। 5.78 करोड़ व्यक्तियों में से 4.32 करोड़ व्यक्तियों ने 5 लाख रुपए तक की आय का खुलासा किया है। 
  • फाइनेंस एक्ट 2019 के मुताबिक, 5 लाख रुपए तक की आय पर टैक्स जमा नहीं करना होता। इस कारण 5 लाख रुपए तक की इनकम वाले 4.32 करोड़ व्यक्तियों को टैक्स जमा करने की लायबिलिटी नहीं है। 
  • इसके बाद करीब 1.46 करोड़ व्यक्ति ही टैक्स जमा करने के लिए बाध्य हैं। इसमें 1 करोड़ व्यक्तियों ने आय 5 से 10 लाख और 46 लाख व्यक्तियों ने आय 10 लाख से ज्यादा होने का खुलासा किया है। 
  • सिर्फ 3.16 लाख व्यक्तियों ने आय 50 लाख से ज्यादा दर्शाइ है। 5 करोड़ से ज्यादा आय दर्शाने वालों की संख्या 8600 के करीब ही है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना