फैक्ट चेक / एनआरसी के नाम पर बुजुर्ग की पिटाई वाला वीडियो वायरल, जबकि यह उन्नाव में किसानों द्वारा किए गए विरोध के दौरान की घटना है

No Fake News On Police Beating elderly for opposing NRC
X
No Fake News On Police Beating elderly for opposing NRC

  • क्या वायरल : एक बुजुर्ग की पिटाई वाला वीडियो वायरल हो रहा है। दावा है कि, एनआरसी के विरोध के चलते पुलिस ने बुजुर्ग की ऐसे पिटाई की
  • क्या सच : वास्तव में वायरल वीडियो उन्नाव में किसानों द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए लाठीचार्ज का है

Dainik Bhaskar

Jan 03, 2020, 04:39 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें पुलिसकर्मी एक बुजुर्ग मुस्लिम को पीटते नजर आ रहे हैं। दावा है कि, पिट रहे शख्स 82 वर्ष के मौलाना सैयद रज़ा हुसैनी हैं, जिन्हें सीएए, एनआरसी का विरोध करने पर यूपी पुलिस ने पीटा। एक पाठक ने हमें यह वायरल वीडियो पुष्टि के लिए भेजा। पड़ताल में सोशल मीडिया का दावा झूठा निकला। 

क्या वायरल

  • एक यूजर ने इसे फेसबुक पर शेयर करते हुए लिखा कि, पुलिस ने बच्चों को एक मदरसे में खींच लिया और उन्हें बेरहमी से मारते हुए कहा , तुम्हें नागरिकता की जरूरत नहीं है। 
  • कई यूजर्स इस दावे के साथ इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं। 

क्या है सच्चाई

  • पड़ताल में पता चला कि वायरल वीडियो वास्तव में नवंबर 2019 में हुए उन्नाव में हुए किसानों के विरोध प्रदर्शन का है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, किसानों ने जमीन के बदले मिलने वाले मुआवजे की राशि कम होने के चलते विरोध किया था और इसे बढ़ाने की मांग की थी। 
  • रिवर्स सर्चिंग में हमें 16 नवंबर 2016 को यूट्यूब पर यू न्यूज चैनल द्वारा अपलोड किया गया पूरा वीडियो मिला। इसमें दी गई जानकारी के मुताबिक, वीडियो किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान का है। किसानों के पथराव करने पर यूपी पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। 
  • एक अन्य यूट्यूब चैनल NYOOOZ UP पर भी इस वीडियो को अपलोड किया गया है और लिखा गया है कि, उन्नाव में किसानों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई के कई वीडियो आए सामने हैं। 

निष्कर्ष : पड़ताल से स्पष्ट होता है कि, वायरल वीडियो उन्नाव में हुए किसानों के विरोध प्रदर्शन का है, न की एनआरसी-सीएए को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन का। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना