फैक्ट चेक / एक्सपर्ट ने कहा, चप्पल या सैंडल पहनकर बाइक चलाने पर जुर्माना लगने जैसा कोई कानून नहीं



New Traffic Rules: No Fake News On Traffic Fines Challan While Driving Wearing Slippers
X
New Traffic Rules: No Fake News On Traffic Fines Challan While Driving Wearing Slippers

  • क्या वायरल : यातायात उल्लंघन पर जुर्माने के नए नियम लागू, चप्पल या सैंडल पहनकर बाइक चलाने पर भी लगेगा जुर्माना
  • क्या सच : एक्सपर्ट बोले, कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं। सोशल मीडिया का दावा गलत

Dainik Bhaskar

Sep 09, 2019, 06:30 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. मोटर व्हीकल (संशोधित) बिल 2019 के लागू होने के बाद से ही सोशल मीडिया में चर्चा में है। बड़ी राशि के चालान कटने की खबरें रोज आ रही हैं। इन्हीं के बीच कुछ ऐसी खबरें भी वायरल की जा रही हैं, जिनका वास्तविकता से कोई लेनादेना नहीं है। ऐसी ही एक खबर वायरल हो रही है कि 'यातायात उल्लंघन पर जुर्माने के नए नियम लागू, चप्पल या सैंडल पहनकर बाइक चलाने पर भी लगेगा जुर्माना'। एक पाठक ने हमे यह खबर पुष्टि के लिए भेजी। पड़ताल में इसकी सच्चाई सामने आई। 

 

क्या वायरल

  • वॉट्सऐप और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कुछ खबरों के स्क्रीनशॉट वायरल हो रहे हैं। 
  • एक में लिखा है कि 'यातायात उल्लंघन पर जुर्माने के नए नियम लागू, चप्पल या सैंडल पहनकर बाइक चलाने पर भी लगेगा जुर्माना'।
सोशल मीडिया में वायरल मैसेज।

 

  • कुछ न्यूज वेबसाइट्स ने भी इस खबर को बिना पुष्टि के प्रसारित किया है।
  •  
कुछ न्यूज वेबसाइट्स ने भी बिना पुष्टि के इस खबर को प्रसारित किया है।

 

क्या है सच्चाई

  • हमने इस तथ्य की सच्चाई जानने के लिए मप्र हाईकोर्ट के सीनियर एडवोकेट संजय मेहरा से बात की। उन्होंने बताया कि मोटर व्हीकल एक्ट में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है, जिसमें गाड़ी चलाते वक्त चप्प्ल या सैंडल पहनने को अनिवार्य किया गया हो। सरकार ने संशोधन में भी ऐसा कोई प्रावधान नहीं जोड़ा है। 
  • भोपाल के ट्रैफिक डीएसपी मनोज कुमार खत्री ने भी पुष्टि करते हुए बताया कि, ये सब फालतू की बातें हैं। एक्ट में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है, जो यह कहता हो कि गाड़ी चलाते वक्त स्लीपर या सैंडल पहनना जरूरी है। 
  • इसके बाद हमने मोटर व्हीकल (संशोधित) बिल 2019 पर भी नजर मारी लेकिन यहां भी ऐसा कोई प्रावधान नहीं मिला। 
  • इन सभी तथ्यों से यह स्पष्ट होता है कि सोशल मीडिया में वायरल मैसेज गलत है। जिन वेबसाइट्स ने इससे जुड़ी खबर लगाई है, उन्होंने किसी विश्वसनीय सोर्स का हवाला नहीं दिया।

नए कानून से हुए प्रमुख बदलाव

  • बिना लाइसेंस वाहन चलाने पर 500 की जगह अब 5000 देने होंगे।
  • खतरनाक ड्राइविंग पर पहले अपराध पर एक साल तक की कैद और/या 5000 तक जुर्माना व इसके तीन साल के भीतर दोबारा ऐसा करने पर दो साल तक कैद और/या 10,000 रुपये जुर्माना देना होगा।
  • शराब पीकर वाहन चलाने पर पहली बार 10,000 रुपए तक जुर्माना और/या छह माह तक कैद तथा दूसरी बार ऐसा करने 3000 रुपए जुर्माना और/या दो साल तक कैद हो सकती है।
  • ओवर स्पीड पर अब तक 400 रुपए का जुर्माना था, जिसे एलएमवी के लिए 1000 से 2000 तक और मध्यम व मालवाहक वाहनों के लिए 2000 से 4000 तक कर दिया गया है। इसके अलावा दोबारा ऐसा करने पर लाइसेंस जब्त कर लिया जाएगा।
  • एंबुलेंस सहित सभी इमरजेंसी सेवाओं को रास्ता नहीं देने पर अब 10000 रुपये जुर्माना देना होगा व छह माह तक की कैद भी हो सकती है।
  • दुर्घटना करने पर पहले अपराध पर 5000 तक जुर्माना और/या छह माह तक कैद तथा दूसरे अपराध पर 10,000 तक जुर्माना और/या एक साल की कैद।
  • सीट बेल्ट न लगाने और हेलमेट न पहनने पर अब 1000 रुपये जुर्माना देना होगा। बिना इंश्योरेंस के वाहन चलाने पर 2000 रुपये देने होंगे।
  • नाबालिग के वाहन चलाने या नियमों का उल्लंघन करने पर अभिभावक या वाहन स्वामी जिम्मेदार माने जाएंगे। साथ ही वाहन का रजिस्ट्रेशन भी निलंबित कर दिया जाएगा।
  • सड़क सुरक्षा ध्वनि व वायु प्रदूषण के मानकों का उल्लंघन करने पर पहली बार तीन माह तक की कैद और/या 10,000 रुपये जुर्माने के साथ ही तीन माह के लिए लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा और दूसरी बार ऐसा करने पर छह माह तक की कैद और 10,000 जुर्माना देना होगा।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना