फैक्ट चेक / कोरोनावयरस की दवा अभी तक ईजाद नहीं हुई, वायरल तस्वीर टेस्टिंग किट की है

No Fake News On US Scientists Developed Covid-19 Vaccine
X
No Fake News On US Scientists Developed Covid-19 Vaccine

  • क्या वायरल : कोविड-19 लिखी किट की तस्वीर वायरल हो रही है। दावा है कि, यह कोरोनावायरस को खत्म करने वाली दवा है, जिसे अमेरिकी वैज्ञानिकों ने बनाया है
  • क्या सच : कोरोनावायरस को खत्म करने वाली दवा अभी तक ईजाद नहीं हो पाई है। वायरल तस्वीर कोरोनावायरस की जांच करने वाली किट की है

दैनिक भास्कर

Mar 24, 2020, 07:00 AM IST

फैक्ट चेक डेस्क. दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोनावायरस कोविड-19 की वैक्सीन खोजने में जुटे हैं। अभी तक इसकी कोई वैक्सीन नहीं बन सकी है लेकिन सोशल मीडिया पर यूजर्स दावा कर रहे हैं कि इसकी वैक्सीन बन चुकी है। कोविड-19 लिखी हुई किसी वैक्सीन की फोटो भी शेयर की जा रही है। हमारी पड़ताल में वायरल दावा झूठा निकला। 

क्या वायरल

  • हमें एक यूजर ने ईमेल के जरिए इस फोटो का चित्र भेजते हुए लिखा कि, 'बढ़िया खबर! कारोना वायरस वैक्सीन तैयार। इंजेक्शन के बाद 3 घंटे के भीतर रोगी को ठीक करने में सक्षम। अमेरिकी वैज्ञानिकों को सलाम।

  • अभी ट्रम्प ने घोषणा की कि रोशे मेडिकल कंपनी अगले रविवार को वैक्सीन लॉन्च करेगी, और लाखों खुराक इससे तैयार हैं !!!'। 
  • इस पोस्ट को इंस्टाग्राम, ट्विटर पर भी शेयर किया जा रहा है। 

क्या है सच्चाई

  • पड़ताल में पता चला कि कोविड-19 लिखी जिस मेडिसिन की तस्वीर वायरल की जा रही है, वो वैक्सीन नहीं है बल्कि टेस्टिंग किट है, जिसे साउथ कोरिया द्वारा विकसित किया गया है। 
  • रिवर्स इमेज सर्चिंग में हमें कुछ न्यूज रिपोर्ट्स मिलीं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, साउथ कोरिया की फार्मा कंपनी सुगेंटेक ने पोर्टेबल डायग्नोस्टिक किट विकसित की है। इससे सिर्फ 10 मिनट में यह पता चल जाता है कि कोरोनावायरस है या नहीं। वायरल तस्वीर में कंपनी का नाम भी लिखा हुआ देखा जा सकता है। 

निष्कर्ष : वायरल दावा झूठा है। कोरोनावायरस को खत्म करने वाली कोई भी वैक्सीन अभी तक तैयार नहीं हुई है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना