नो फेक न्यूज / आग में जल गया तमिलनाडु के नेता का काला धन, लेकिन ये झूठी तस्वीर तो कई देशों में वायरल है

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 11:28 PM IST


no fake news- viral video and photos of a lot of money getting burnt
X
no fake news- viral video and photos of a lot of money getting burnt
  • comment

  • कहां वायरल: व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है नेताओं के काले धन के खुलासे का वीडियो
  • क्या निकला: मैड्रिड के आर्ट इंस्टॉलेशन के फोटो और वीडियो को असली बताकर झूठी कहानियों के साथ वायरल किया जा रहा है

नो फेक न्यूज डेस्क. दैनिक भास्कर प्लस एप के पाठकों ने हमें एक वीडियो भेजकर उसकी सच्चाई पता करने के लिए कहा। वीडियो में एक कमरे में नोटों के कई सारे ढेर दिखाई दे रहे हैं, जिसमें से काफी सारा हिस्सा जला हुआ भी नजर आ रहा है। वीडियो के साथ दावा किया गया है कि तमिलनाडु के एक नेता के गोदाम में आग लगने से वहां रखा काले धन का ढेर भी जल गया। वीडियो में गुलाबी, पीले और हरे रंग के नोटों के कई बड़े-बड़े ढेर दिखाई दे रहे हैं।

 

पड़ताल

वीडियो को ध्यान से देखने पर साफ समझ में आता है कि दिखाई दे रहे नोट भारत के नहीं हैं। पड़ताल करने पर हमें पता चला कि यह वीडियो और इसके स्क्रीनशॉट्स अलग-अलग समय पर अलग अलग कहानियों के साथ शेयर किए जाते रहे हैं। यह वीडियो ना सिर्फ भारत में बल्कि पाकिस्तान, रूस और कैमरून में भी बहुत वायरल हुआ है।

 

 

इसी फोटो और वीडियो को शेयर कर साथ में जोड़ा गया कि यह एक पाकिस्तानी नेता के घर का पैसा है जिसे पुलिस वालों से छुपाने के लिए नेता की पत्नी ने जलाने की कोशिश की।

 

 

हालांकि हर बार जिस भी कहानी के साथ यह वीडियो शेयर किया गया है, वो कहानी फर्जी है। 
 

''

 

सबूत

वीडियो के स्क्रीनशॉट लेकर हमने गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया, तो हमें इन दावों का ओरिजनल वीडियो मिल गया। असल में यह वीडियो एक आर्ट गैलरी का है जिसे 2018 में हुए आर्ट मैड्रिड फेस्टिवल में प्रदर्शित किया गया था। 'यूरोपियन ड्रीम' नाम के इस स्कल्पचर को मैड्रिड के रहने वाले कलाकार अलेक्जेंड्रो मोंगे ने बनाया था। अलेक्जेंड्रो ने खुद वायरल वीडियो को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर करके इसके साथ जुड़े दावों को झूठा करार दिया था। उन्होंने लिखा, 'लोगों को पता भी नहीं होता कि कोई चीज असल में क्या है तब भी इंटरनेट पर कुछ भी वायरल हो जाता है.. यह एक स्कल्पचर है और इसमें दिख रहे नोट हाथ से पेंट किए गए हैं।'

 

''

 

अलेक्जेंड्रो के मुताबिक वायरल वीडियो आर्ट गैलरी में किसी दर्शक ने बनाया होगा। जिसे बाद में अलग अलग कहानियों के साथ शेयर किया जाने लगा।

 

''

 

अलेक्जेंड्रो ने अपने आर्ट के बारे में बताया कि उसका प्रदर्शन दिखाता है कि आज के समाज में सब कुछ किस तरह पैसे के आसपास घूमता है। आज के समाज में पैसा ही भगवान है। उनके इस आर्ट में 5 लाख से ज्यादा हाथ से पेंट किए हुए नकली नोट है।

 

निष्कर्ष

वायरल हो  रहा वीडियो और फोटोज असली है लेकिन उनके साथ जोड़ी गई कहानी फर्जी है। वीडियो मैड्रिड के एक कलाकार का बनाया आर्ट है, जिसे 2018 में हुए आर्ट मैड्रिड फेस्टिवल में प्रदर्शित किया गया था।

 

''

 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन