नेपाल विमान हादसा:सोशल मीडिया पर अभी का बताकर शेयर की जा रहीं पुरानी फोटो; जानिए इन तस्वीरों का सच

19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल : नेपाल में रविवार सुबह बड़ा विमान हादसा हुआ। इसमें 5 भारतीय समेत 68 यात्री और 4 क्रू मेंबर सवार थे। अब तक 68 शव निकाले जा चुके हैं। इसी बीच हादसे से जोड़कर सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें शेयर की जा रही है। दावा किया जा रहा है कि ये फोटो नेपाल में हुए विमान हादसे की हैं।

फेक न्यूज के खिलाफ हमारे साथ जुड़ें। वायरल वीडियो, फोटो या मैसेज का सच जानने के लिए वॉट्सऐप करें - 7879152202

और सच क्या है?

  • नेपाल विमान हादसे के नाम से शेयर की जा रही तस्वीरों को एक-एक कर हमने गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें पहली फोटो nieuwsblad नाम की वेबसाइट पर खबर के साथ मिली।
न्यूज वेबसाइट पर मौजूद खबर का स्क्रीनशॉट।
न्यूज वेबसाइट पर मौजूद खबर का स्क्रीनशॉट।
  • वेबसाइट के मुताबिक, ये फोटो सिता एयरलाइन विमान हादसे की है। नेपाल के काठमांडू एयरपोर्ट से उड़ान भरते ही 500 मीटर की दूरी पर प्लेन क्रैश हो गया था। इस विमान में 16 यात्री और 3 क्रू मेंबर सवार थे।
  • अधिकारियों के मुताबिक, ये हादसे विमान से गिद्ध के टकराने पर हुआ था। इस हादसे में विमान में मौजूद सभी यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई थी।
  • ध्यान देने वाली बात यह है कि ये फोटो खबर के साथ 28 सितंबर 2018 को पब्लिश हुई थी। इससे साफ है कि ये तस्वीर आज नेपाल में हुए विमान हादसे की नहीं है।
  • पड़ताल के अगले चरण में हमने वायरल हो रही दूसरी फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें इसके अलग एंगल की फोटो CNN न्यूज की वेबसाइट पर मिली।
CNN न्यूज की वेबसाइट पर मौजूद फोटो का स्क्रीनशॉट।
CNN न्यूज की वेबसाइट पर मौजूद फोटो का स्क्रीनशॉट।
  • वेबसाइट के मुताबिक, 12 मार्च 2018 की ये फोटो नेपाल के काठमांडू एयरपोर्ट पर हुए विमान हादसे की है। इस विमान में विमान क्रू मेंबर्स समेत 71 लोग सवार थे। हादसे में 49 लोगों की मौत हो गई थी और 22 को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया था।
  • ये खबर फोटो के साथ वेबसाइट पर 12 मार्च 2018 को पब्लिश हुई थी। इससे साफ है कि ये फोटो अभी की नहीं बल्कि 12 मार्च 2018 में हुए विमान हादसे की है।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल फोटो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। ये दोनों ही फोटो रविवार को नेपाल में हुए विमान हादसे की नहीं बल्कि पुरानी है।