• Hindi News
  • No fake news
  • No Fake News; Pakistan's Minister tweeted Fake Video as Security Forces In Kashmir Cutting Fruit Trees

फैक्ट चेक / अब पाकिस्तानी मंत्री ने शिमला का पुराना वीडियो शेयर कर बताया कश्मीर का, यूजर्स ने ही बता दिया सच

No Fake News; Pakistan's Minister tweeted Fake Video as Security Forces In Kashmir Cutting Fruit Trees
X
No Fake News; Pakistan's Minister tweeted Fake Video as Security Forces In Kashmir Cutting Fruit Trees

  • क्या वायरल : पाक के मानवाधिकार मंत्री ने एक वीडियो ट्वीट कर उसे कश्मीर का बताया है। इसमें दावा किया जा रहा है कि कश्मीर में सेना पेड़ों को भी गिरा रही है
  • क्या सच : वायरल वीडियो शिमला का है। हाईकोर्ट के निर्देश पर 2018 में वहां वन विभाग की जमीन से अतिक्रमण हटाने के दौरान सेब के पेड़ गिराए गए थे

दैनिक भास्कर

Sep 24, 2019, 05:43 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. पाकिस्तान के मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने फिर एक पुराना वीडियो कश्मीर के नाम से ट्वीट कर दिया है। सोशल मीडिया में यह काफी वायरल हो रहा है। एक पाठक ने हमें यह वीडियो पूरी सच्चाई जानने के लिए भेजा। जानिए इस वीडियो की हकीकत।

 

क्या वायरल

  • 15 सितंबर को पाकिस्तान के मंत्री शिरीन मजारी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया। 

 

  • इसमें पुलिस की यूनिफॉर्म पहना एक शख्स मशीन से पेड़ को काटते हुए नजर आ रहा है। जिस पेड़ को काटा जा रहा है, वो देखने में सेब का लग रहा है।
  • मजारी ने वीडियो को पोस्ट करते हुए लिखा है कि 'भारत अधिकृत सेना आईओजेके में लगे फलों के पेड़ों को भी सहन नहीं कर सकती। शायद मुस्लिम कश्मीरी फलों को खाएं। यह असभ्य मोदी सरकार की फासीवादी घृणा से भरी मानसिकता है'।
  • मजारी ने दावा किया है कि जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद-370 के हटने के बाद से भारतीय सेनाएं कश्मीर में सेब के पेड़ों को काट रही हैं।

क्या है सच्चाई

  • मजारी ने जो वीडियो शेयर किया है, वो कश्मीर नहीं बल्कि हिमाचल प्रदेश का है। इसका क्लू हमें मजारी के ट्वीट पर हुए रिट्वीट से ही मिला। एक यूजर ने लिखा कि यह ट्वीट पिछले साल का है और शिमला का है।

 

  • इसके बाद कीवर्ड्स से सर्चिंग करने पर हमें यूट्यूब पर यही वीडियो मिल गया, जो मजारी ने ट्वीट किया है। 
  • वीडियो में दिए डिस्क्रिप्शन में साफ लिखा है कि माननीय हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट के आदेश पर वन विभाग अतिक्रमण साफ करने में लगा है। 
वीडियो पिछले साल का है।

 

  • सर्चिंग में हमें इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट भी मिली। जिसमें अतिक्रमण हटाने की बात लिखी है। 
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, वर्ष 2018 में हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने शिमला के एपल बेल्ट में अवैध वन अतिक्रमण पर कार्रवाई का आदेश दिया था। 
  • यह मामला स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) के पास था। एसआईटी ने हाईकोर्ट में रिपोर्ट सबमिट करते हुए जानकारी दी थी कि वन विभाग की जमीन पर किए गए 13 कब्जों में से 8 को हटा दिया गया है। सेब के पेड़ गिरा दिए गए हैं। 
  • मजारी ने जो वीडियो शेयर किया है, उस दौरान ज्वॉइंट टीम ने कई पेड़ों को कोर्ट के निर्देश पर गिराया था। 
  • पूरी पड़ताल से स्पष्ट होता है कि पाकिस्तानी मंत्री का दावा गलत और झूठा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना