फैक्ट चेक / प्रियंका के फैंस ने गंदगी में बैठे बच्चों का फोटो शेयर कर गुजरात का बताया, असलियत में एमपी का निकला



photo of children sitting in the open amidst filth is not from Gujarat, but MP
X
photo of children sitting in the open amidst filth is not from Gujarat, but MP

  • क्या वायरल : गंदगी के बीच बैठे स्कूल के बच्चों का फोटो वायरल। इसे बीजेपी के 25 साल के शासन से जोड़ते हुए गुजरात का बताया जा रहा है
  • क्या सच : यह फोटो गुजरात नहीं बल्कि मप्र के एक स्कूल का है

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2019, 03:31 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया पर झूठी जानकारी के साथ एक फोटो वायरल की जा रही है। वायरल पोस्ट में गंदगी में टाट पट्‌टी पर कुछ बच्चे बैठे दिखाई दे रहे हैं। इस फोटो को गुजरात का बताया जा रहा है। पड़ताल में इसकी सच्चाई सामने आई। 

 

क्या वायरल

यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।


फेसबुक पर प्रियंका गांधी फ्यूचर ऑफ इंडिया नामक पेज में ये फोटो शेयर की गई है। इसमें लिखा है कि 'गुजरात में 25 सालों से किसकी सरकार है सब जानते है, वहां सरकारी शिक्षा के हालात देखिए, 
बजट! शिक्षा पर पूरे देश में खर्च 400 करोड़, 
कुंभ स्नान पर 4000 करोड़,
क्या ऐसे बनेगा भारत विश्वगुरु??'

 

क्या है सच्चाई

  • छानबीन में पता चला कि यह फोटो गुजरात की नहीं बल्कि मप्र के सागर जिले में स्थित स्कूल की है। 
  • गूगल पर रिवर्स सर्च में पता चला कि यही फोटो अंग्रेजी दैनिक हिंदुस्तान टाइम्स ने कुछ समय पहले प्रकाशित की थी।
  • हिंदुस्तान टाइम्पस की रिपोर्ट के मुताबिक, सागर जिले के परसोरिया गांव में स्थित स्कूल के बच्चों को बिजली न होने के चलते बाहर इस हालात में बैठना पड़ रहा है। 
एचटी में प्रकाशित खबर।

 

  • यह आर्टिकल जनवरी-2019 में प्रकाशित किया गया था। इसी समय मप्र में कांग्रेस सत्ता में आ चुकी थी।
  • वायरल पोस्ट में कुंभ में 4 हजार करोड़ रुपए खर्च करने का दावा भी किया गया है। इस फैक्ट की पड़ताल करने पर हमें कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं। जिनसे पता चला कि योगी सरकार ने कुंभ-2019 में 4200 करोड़ रुपए खर्च किए। इसके बाद यह सबसे महंगा कुंभ बन गया। 
कुंभ मीडिया कवरेज की खबर।

 

  • वहीं वायरल पोस्ट में जो तीसरा दावा किया गया है कि सरकार 400 करोड़ रुपए पूरे देश के एजुकेशन पर खर्च करती है यह भी गलत निकला। 
  • पड़ताल में पता चला कि 400 करोड़ रुपए तो सिर्फ 2019-20 के बजट में वर्ल्ड क्लास एजुकेशनल इंस्टीट्यूट बनाने के लिए आवंटित किए गए हैं। 
400 करोड़ रुपए तो सिर्फ 2019-20 के बजट में वर्ल्ड क्लास एजुकेशनल इंस्टीट्यूट बनाने के लिए आवंटित किए गए हैं

 

  • 2019-20 में सरकार एजुकेशन पर करीब 94854 करोड़ रुपए खर्च कर रही है। 
  • इससे पता चलता है कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा पूरी तरह से गलत है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना