सोशल सच /पाक पत्रकार हामिद मीर ने भारतीय सेना के टॉर्चर का वीडियो शेयर किया, पर झूठ पकड़ा गया

Dainik Bhaskar

Sep 25, 2018, 05:35 PM IST


this is a video of indian army torturing a kashmiri youth reality check
X
this is a video of indian army torturing a kashmiri youth reality check

नो फेक न्यूज डेस्क. पाकिस्तान के जाने-माने पत्रकार हामिद मीर ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक वीडियो 21 सितंबर को पोस्ट किया था। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने दावा किया कि ये वीडियो कश्मीर का है और वहां के लोगों के साथ भारतीय सेना इस तरह का टॉर्चर करती है। उन्होंने दावा किया कि यही वजह है कि भारत, पाकिस्तान के साथ बातचीत को तैयार नहीं होता।

 

 

दरअसल, इस वीडियो में सेना के 3-4 जवान हैं जो एक शख्स को उल्टा लेटाकर उसे बेरहमी से पीट रहे हैं। इसी वीडियो को शेयर करते हुए हामिद मीर ने ये दावा किया है। वीडियो में हामिद मीर ने इसे भारतीय सेना का कश्मीरियों पर अत्याचार बताया था, लेकिन हमारी पड़ताल में सामने आया कि ये वीडियो कश्मीर का नहीं बल्कि पाकिस्तान का ही है।

  • क्या है इस वीडियो में?

    • 1 मिनट 50 सेकेंड के इस वीडियो में एक युवक को वर्दीधारी सेना के जवानों ने पकड़ रखा है और उनमें से एक जवान उस युवक की बेरहमी से पिटाई कर रहा है।
    • हामिद मीर के शेयर किए इस वीडियो को अब तक 2.5 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं, जबकि इसे 14 हजार से ज्यादा लोग लाइक और 9,800 से ज्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है।

     

     

  • पड़ताल : क्यों झूठा है हामिद मीर का दावा?

    पड़ताल : क्यों झूठा है हामिद मीर का दावा?

    • हमने इस वीडियो को ध्यान से देखा तो हमें सेना के एक जवान की वर्दी पर पाकिस्तान का झंडा दिखाई दिया। इसके बाद हमने इस वीडियो की सच्चाई जानने के लिए इंटरनेट की मदद ली।
    • गूगल पर हमने जब 'Army Torture' लिखकर सर्च किया, तो 9वें पेज पर हमें डेली मोशन का एक लिंक मिला जिसमें यही वीडियो 4 जुलाई 2018 को अपलोड किया गया था। इसका टाइटल था 'Warning: Baloch missing persons in Pakistani Army torture cell' यानी 'बलूच के लापता लोग पाकिस्तानी सेना के टॉर्चर सेल में।'
    • डेली मोशन पर इस वीडियो को 'बलूचिस्तान चैनल' की तरफ से अपलोड किया गया था। इस वीडियो के डिस्क्रिप्शन में लिखा था 'वॉर्निंग : पाकिस्तानी टॉर्चर सेल का विचलित करने वाला वीडियो। सालों से हजारों लोग पाकिस्तानी टॉर्चर सेल में ये सब झेल रहे हैं, उनके बारे में सोचिए। बलूच, पश्तून और सिंधियों पर होने वाले अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाइए।'
    • हमने इसके बाद इस वीडियो की और पड़ताल की तो पता चला कि इस वीडियो को 5 जुलाई 2018 को बलूच रिपब्लिकन पार्टी के नेता शेर मोहम्मद बुगती ने भी शेयर किया था। उन्होंने भी इसे पाकिस्तानी सैनिकों का बलूच छात्रों पर अत्याचार बताया था। 

     

COMMENT