पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • No fake news
  • This Photo Is Not From The Human Trial Of Bharat Biotech's Covid 19 Vaccine, The Vaccine Maker Bharat Biotech Has Said It Is Fake

फेक vs फैक्ट:यह फोटो भारत में कोविड-19 वैक्सीन के पहले ह्यूमन ट्रायल की नहीं है, वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने ही इसे फेक बताया

एक महीने पहले
  • देश की पहली वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ को हैदराबाद की फार्मा कंपनी भारत बायोटेक ने डेवलप किया है
  • ब्लड टेस्ट की फोटो को बताया जा रहा वैक्सीन का ट्रायल

क्या वायरल : एक फोटो, जिसमें मास्क पहने हुए व्यक्ति को इंजेक्शन लगता हुआ दिख रहा है। दावा किया जा रहा है कि ये भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई कोविड-19 वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल की फोटो है। चूंकि फोटो में इंजेक्शन लगाने वाला व्यक्ति और लगाने वाली हेल्थ वर्कर मास्क पहने हैं, इसलिए स्पष्ट है कि ये कोरोना के समय की ही है। यही वजह है कि लोग वायरल दावे को सच भी मान रहे हैं। 

देश में कोरोना की पहली वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ को हैदराबाद की फार्मा कंपनी भारत बायोटेक ने तैयार किया है। इसे आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे के साथ मिलकर बनाया गया है। जानवरों पर इसका ट्रायल कामयाब रहा है। इंसानों पर परीक्षण के लिए इसे हाल ही में मंजूरी मिली है। इसी बीच एक फोटो को ह्यूमन ट्रायल का बताकर वायरल किया जा रहा है। 

  • फोटो के साथ सोशल मीडिया पर इस तरह के मैसेज वायरल हो रहे हैं

​​​​​​

  • फोटो के साथ वायरल हो रहे मैसेज का हिंदी अनुवाद है : भारत बायोटेक के वाइस प्रेसिडेंट वीके श्रीनिवास पर कोरोना वैक्सीन का पहला ट्रायल हुआ। पहला डोज लेने के तुरंत बाद उन्होंने कहा, अपने और अपनी टीम द्वारा विकसित की गई वैक्सीन का ट्रायल लेने वाला पहला व्यक्ति हूं। देखिए, इन्हें अपने प्रोडक्ट पर कितना विश्वास है। 

फैक्ट चेक पड़ताल

  • फोटो के साथ जो मैसेज है। उसे आधिकारिक बयान की तरह लिखा गया है। इसलिए लोग इसे सच मान रहे हैं। सबसे पहले हमने भारत बायोटेक की ऑफिशियल वेबसाइट चेक की। जहां ऐसा कोई अपडेट नहीं मिला।
  • भारत बायोटेक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट किया है। कंपनी के बयान के प्रमुख हिस्से का हिंदी अनुवाद है : वॉट्सएप सहित कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कुछ फोटो और मैसेज वायरल हो रहे हैं। वायरल हो रही फोटो भारत बायोटेक ने जारी नहीं की हैं। यह फोटो प्रोडक्शन स्टाफ के रुटीन ब्लड टेस्ट की है। 
  • भारत बायोटेक के बयान से यह बात स्पष्ट होती है कि सोशल मीडिया पर जिस फोटो को ह्यूमन ट्रायल का बताया जा रहा है। असल में वह ब्लड टेस्ट की है। 

निष्कर्ष : वायरल हो रही फोटो भारत में कोरोना वैक्सीन के पहले ह्यूमन ट्रायल की नहीं है। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका कोई सपना साकार होने वाला है। इसलिए अपने कार्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित रखें। कहीं पूंजी निवेश करना फायदेमंद साबित होगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता संबंधी परीक्षा में उचित परिणाम ह...

और पढ़ें