फैक्ट चेक / यूपी पुलिस ने नहीं की पत्थरबाजों पर ऐसी कार्रवाई, पांच साल पहले इंदौर पुलिस ने चलाया था गुंडा अभियान

Fake UP police video| UP police action on stone pelters| fake Police video
X
Fake UP police video| UP police action on stone pelters| fake Police video

क्या वायरल: वायरल वीडियो में दावा किया जा रहा है कि यूपी पुलिस ने पत्थरबाजों की सरेराह पिटाई की

क्या सच: यह वीडियो मध्यप्रदेश की इंदौर पुलिस द्वारा चलाए गए गुंडा अभियान का है

दैनिक भास्कर

Jan 24, 2020, 04:39 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. देश भर में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन और विरोध का दौर चल रहा है। इन्हीं के बीच कई जगह विरोध में पत्थरबाजी की खबरें आईं थीं। इन दिनों सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस के नाम से एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि पुलिस ने पत्थरबाज को सरेराह पीटा। हालांकि भास्कर ने जब मामले की पड़ताल की तो खबर फर्जी निकली।

"अंजाम ऐ पत्थरबाजी"
पुलिस कार्रवाई का वीडियो वायरल कर रहे सोशल मीडिया यूजर दावा कर रहे हैं कि पुलिस ने पत्थरबाजों को पीटा। पोस्ट में लिखा जा रहा है 'जो लोग यह बोल रहे थे कि यह तो अभी शुरुआत है पत्थरबाजी कि, ये उनके लिए स्पेशल अंजाम ए पत्थरबाजी'

क्या है सच्चाई
मामले को तूल पकड़ता देखकर खुद उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस पर सफाई दी है। यूपी पुलिस ने ट्विटर पर वीडियो को टैग कर लिखा कि 'वीडियो में दिखायी जा रही घटना यूपी पुलिस से संबंधित नहीं है कृपया भ्रामक प्रचार न करें'। 

इंदौर पुलिस ने की थी गुंडों पर कार्रवाई

यूपी पुलिस ने साथ ही मामले का असली वीडियो भी शेयर किया। वायरल वीडियो मध्य प्रदेश की इंदौर पुलिस का है। इंदौर की पुलिस ने साल 2015 में गुंडा अभियान चलाया था। इस अभियान के तहत पुलिस ने गुंडों की बीच शहर में पिटाई कर परेड निकाली थी। हालांकि इस पुलिस कार्रवाई की काफी निंदा की गई थी।

निष्कर्ष : यूपी पुलिस के नाम से गलत वीडियो वायरल किया जा रहा है। पत्थरबाजों पर यूपी पुलिस द्वारा कार्रवाई का वीडियो फर्जी है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना