• Hindi News
  • No fake news
  • Video Of Brutally Beating With Iron Rod And Hammer Went Viral By Giving Communal Color, Know Its Full Truth

फेक न्यूज एक्सपोज:लोहे की रॉड और हथौड़े से बेरहमी से पीटने का वीडियो सांप्रदायिक रंग देकर हुआ वायरल, जानिए इसका पूरा सच

6 महीने पहले

क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक युवक को दो शख्स लोहे की रॉड और हथोड़े से बेरहमी से पीट रहे हैं। वह युवक जमीन पर गिरा है और दो शख्स उसके पेर पर रॉड और हथौड़े से ताबड़तोड़ हमला कर रहे हैं।

वीडियो को सांप्रदायिक रंग देकर शेयर किया जा रहा है। वीडियो शेयर कर यूजर्स ने लिखा- भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ ये हर दिन हो रहा है। शर्मनाक है कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन और पश्चिमी मीडिया ने अपने फायदे के लिए आंखें बंद कर रखी हैं।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने इसके की-फ्रेम को गूगल पर रिवर्स सर्च किया। सर्च रिजल्ट में हमें इससे जुड़ी खबर दैनिक जागरण की वेबसाइट पर मिली।
  • वेबसाइट के मुताबिक, 5 दिसंबर की सुबह का ये वीडियो हरियाणा के फरीदाबाद के बड़खल झील चौक का है। जहां दिन-दहाड़े एक युवक पर हथौड़े और रॉड से हमला कर उसके हाथ-पैर तोड़ दिए।
  • इस खबर में बताया गया है कि पीड़ित का नाम मनीष है। वहीं, वीडियो में दिख रहे आरोपियों का नाम ललित और प्रदीप है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और इस घटना में शामिल तीसरे आरोपी की तलाश की जा रही है। पुलिस ने बताया कि ये पूरा मामला आपसी रंजिश का है।
  • पड़ताल के अगले चरण में हमने इससे जुड़े की-वर्ड्स यूट्यूब पर सर्च किए। सर्च रिजल्ट में हमें वायरल वीडियो से जुड़ी यही खबर कई मीडिया प्लेटफार्म पर मिली।
  • अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भी वायरल वीडियो में दिख रही ये घटना फरीदाबाद की है। TV9 भारतवर्ष के यूट्यूब चैनल पर मौजूद इस खबर में फरीदाबाद के DCP नरेंद्र सिंह ने बताया कि ये पूरा मामला आपसी रंजिश का है। इस आपराधिक मामले में पीड़ित का नाम मनीष और गिरफ्तार हुए आरोपी का नाम ललित और प्रदीप है।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। वायरल वीडियो में दिख रहा आपराधिक मामला सांप्रदायिक नहीं बल्कि आपसी रंजिश का है।
खबरें और भी हैं...