• Hindi News
  • Nyt
  • Protests against the rule of price of medicine in TV Ads in US

स्वास्थ्य सेवा / अमेरिका में टीवी एड में दवाइयों के मूल्य बताने के नियम का विरोध

Protests against the rule of price of medicine in TV Ads in US
X
Protests against the rule of price of medicine in TV Ads in US

Jun 17, 2019, 01:35 PM IST

केटी थॉमस
अमेरिका की तीन प्रमुख दवा निर्माता कंपनियों ने शुक्रवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की सरकार के एक प्रस्तावित नियम को अदालत में चुनौती दी है। इन कंपनियों ने टीवी विज्ञापनों में दवाइयों की कीमत बताने के प्रस्ताव का विरोध किया है। मर्क, एली लिली, एमजेन और एक एड ट्रेड ग्रुप ने वाशिंगटन की फेडरल अदालत में दाखिल याचिका में दलील दी है कि यह नियम अवैध है। अमेिरकी संविधान के खिलाफ है। उनका दावा है, 35 डॉलर प्रतिमाह की खुराक से ज्यादा कीमत की किसी भी दवा का मूल्य टीवी विज्ञापनों में बताने से कंज्यूमर गुमराह होंगे क्योंकि बीमा कंपनियां अक्सर थोक दवा की कीमत कवर करती हैं। 


मर्क का कहना है, नए नियम के कारण कई मरीज इलाज न कराने का निर्णय ले सकते हैं। वे सोचेंगे उनके लिए इतनी अधिक कीमत चुकाना संभव नहीं होगा। जबकि मरीजों को इतना मूल्य नहीं देना पड़ता है जितना दवाओं की मूल्य सूची में रहता है। लिली का कहना है, सरकार अपने अधिकार क्षेत्र के बाहर निकल गई है। लिली इंसुलिन बनाने वाली उन तीन कंपनियों में शामिल है जिनकी मूल्य बढ़ाने के लिए जांच हो रही है। स्वास्थ्य सेवाओं के मंत्री अलेक्स अजार का कहना है, यह फैसला दवा कंपनियों को मूल्य घटाने के लिए विवश करेगा। टीवी एड में मूल्य बताने का नियम 9 जुलाई से लागू होगा। इसे ट्रम्प सरकार के दवाइयों की बढ़ती कीमतों पर काबू पाने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना