जीने की राह / यदि आप स्वयं को जान लें तो शांत और खुश रह सकेंगे



If you know yourself, you will be calm and happy.
X
If you know yourself, you will be calm and happy.

  • जीने की राह कॉलम पं. विजयशंकर मेहता जी की आवाज में मोबाइल पर सुनने के लिए 9190000072 पर मिस्ड कॉल करें

पं. विजयशंकर मेहता

पं. विजयशंकर मेहता

Jun 30, 2019, 10:06 PM IST

समस्या का मूल है अपने आप से परिचित न होना। अशांत रहना एक बड़ी समस्या है और इससे निपटने के लिए जरूरी है खुद को जानना।  शांति, खुशी सभी चाहते हैं, लेकिन यदि आप स्वयं को नहीं जानते तो शांत भी नहीं रह सकते और खुश भी नहीं हो पाएंगे।

 

बहुत सरल तरीके से यह बात समझाई है आचार्य महाप्रज्ञजी ने जिनका जन्म शताब्दी समारोह अब आरंभ हो रहा है। उन्होंने कहा था खुश रहना हो तो आत्मिक रूप से शक्तिशाली यानी भीतर से मजबूत होना पड़ेगा। यदि आप भीतर से कमजोर हैं तो कोई आपको खुश रख नहीं सकता। अपनी अहिंसा यात्रा में इतने प्यारे-प्यारे संदेश इस महापुरुष ने दिए कि आज जब हमारी जीवनशैली ऐसी हो गई है कि हमने न सिर्फ आर्थिक व्यवस्था के लिए लोन लिया है, बल्कि अब हम अपने चिंतन को भी ऋण के रूप में दूसरों से प्राप्त कर रहे हैं।

 

इस स्थिति में धीरे-धीरे यह विस्फोट की स्थिति बन रही है। इसलिए इस वर्ष आचार्य महाप्रज्ञ के विचारों से जरूर जुड़ा जाए, क्योंकि उनका हर शब्द मनुष्य को शांत जीवनशैली के लिए प्रेरित करता है। जैन श्वेतांबर तेरापंथ के कुछ ऐसे विचार संसार को इस महापुरुष ने दिए जो आज हम सभी को अपनाना ही चाहिए। प्रेक्षाध्यान तो ऐसी विधि है कि हम जीवन के सारे काम करते हुए इसे अपना सकते हैं। जिसे ध्यान करना आ गया, उसे शांत रहने से कोई रोक नहीं सकता। तो इस वर्ष महाप्रज्ञजी को याद करते हुए शांति की तलाश की जाए..।   

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना