परदे के पीछे / बंदिशों को धता बताने का मौका है प्रेम का यह त्योहार

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 03:39 AM IST


This festival of love is an opportunity to defy the restrictions
X
This festival of love is an opportunity to defy the restrictions
  • comment

तीसरी सदी में रोम के सम्राट क्लॉडियस प्रेम और शादी के खिलाफ थे और उन्होंने प्रेम कानूनी तौर पर प्रतिबंधित किया था। उनके खिलाफ विद्रोह हुआ और उनका पराजय दिवस वेलेंटाइन डे के नाम से मनाया जाता है। सेंट वेलेंटाइन ने योद्धाओं को सम्मान दिया था। इसके बाद के कालखंड में वेलेंटाइन डे युवा वर्ग में अत्यंत लोकप्रिय हो गया है। वेलेंटाइन कार्ड्स खूब बिकते हैं और उन पर लिखी इबारत मजेदार होती है। 

 

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

 

फिल्मोद्योग में तो साथ काम करने वाले कलाकारों के बीच प्रेम के अंकुर फूटना स्वाभाविक सी प्रक्रिया है। ऐसे में यह वेलेंटाइन डे अिभनेता-अभिनेत्रियों को अपने रिश्तों को परवान चढ़ाने का अवसर मुहैया कराएगा। इस समय फिल्मोद्योग में रणबीर कपूर और आलिया भट्‌ट कुंवारे हैं और उनके बीच अंतरंग संबंध भी हैं। इस वेलेंटाइन डे पर ये दोनों साथ-साथ जरूर रहेंगे, परंतु ऋषि कपूर की बीमारी का साया उनकी मुलाकात पर हावी रहेगा। इस समय सलमान खान और कटरीना कैफ के बीच भी प्रेम प्रसंग चल रहा है, परंतु वेलेंटाइन डे के दिन सलमान अपनी फिल्म भारत के काम में व्यस्त रहेंगे।

 

अब फिल्म के प्रदर्शन में केवल दो माह रह गए हैं, अत: उनकी प्राथमिकता फिल्म पूरी करने की है न कि वेलेंटाइन डे को मनाने की। दीपिका पादुकोण और उनके पति रणवीर सिंह की शादी के पश्चात यह पहला वेलेंटाइन डे है और इन दोनों पर इस समय काम का कोई दबाव नहीं है, इसलिए ये दोनों यह वेलेंटाइन डे धूमधाम से मनाएंगे। प्रियंका चोपड़ा और उनके पति निक जोनास दोनों ही गायन कला जानते हैं तो यह संभव है कि इस वेलेंटाइन डे पर ये दोनों कोई युगल गीत बनाएं और अपने चाहने वालों को एक  विशेष तोहफा दे दें।


हम इस श्रेणी में टाइगर श्रॉफ और दिशा पटानी काे भी रख सकते हैं, जो गाहे बगाहे हाथों में हाथ डालकर अपने प्यार का इजहार करते नजर आते हैं। सलमान की एक और फिल्म मिलने की खुशी युवा अिभनेत्री दिशा तेजी से सितारे के रूप में उभरते अपने दोस्त टाइगर के साथ वेलेंटाइन डे पर जरूर मनाना चाहेंगी। युवा पीढ़ी का एक और कलाकार वरुण धवन भी अपनी खास दोस्त नताशा के प्रति प्यार का प्रदर्शन करने में प्रतिबंध का अनुभव नहीं करता है। ऐसे सितारों के लिए वेलेंटाइन डे को यादगार बनाने का भरपूर मौका है।


हमारे फिल्मी दुनिया का इतिहास इसमें काम करने वालों की यादगार प्रेम कथाओं से भरा पड़ा है। वेलेंटाइन डे के जश्न की तैयारी कर रहे अाज की पीढ़ी के कलाकारों को नरगिस-सुनील दत्त, दिलीप-शायरा और गुरुदत्त-गीता बाली के प्रेम से कुछ प्रेरणा जरूर लेनी चाहिए।   हमारे  फिल्म उद्योग में इस तरह की घटनाएं घटी हैं कि फिल्मकार नाायिका को उसके सर्वश्रेष्ठ रूप में प्रस्तुत करता है और नायिका अपनी प्रस्तुत छवि पर मुग्ध होकर फिल्मकार से प्रेम करने लगी। 
एक प्रसिद्ध फिल्मकार ने तो यह व्यवस्था की थी कि शूटिंग के पहले नायिका को एक बाई हल्दी का उबटन लगाती थी।

 

तत्पश्चात नायिका को दूध से नहलाया जाता था। इस तरह नायिका को उसके सुंदरतम स्वरूप में प्रस्तुत किया जाता था। फिल्म प्रदर्शन के बाद आयकर विभाग को खर्च का ब्यौरा दिया जाता था। यह भी विसंगति है कि तमाम संस्थाएं प्रेम और प्रेम का प्रदर्शन करने वाले इस त्योहार का विरोध करती हैं। विभिन्न जातियों के युवा प्रेम करते हैं तो उन्हें कत्ल कर दिया जाता है। मराठी भाषा में इस विषय पर बनी फिल्म ‘सैराट’ का चरबा करण जौहर जाह्न्वी कपूर के साथ ‘धड़क’ के नाम से बना चुके हैं। दरअसल प्रेम पर बंदिश तर्क प्रधान वैज्ञानिक सोच के खिलाफ एक साजिश है और वेलेंटाइन डे बंदिश की इसी साजिश को धता बताने का मौका प्रेमियों को देता है।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन