जीने की राह / समझ के साथ निभाए जाएं तो भरपूर खुशी देते हैं इंसानी रिश्ते

Dainik Bhaskar

Dec 16, 2018, 11:14 PM IST



To be treated understanding relations , it gives great happiness
X
To be treated understanding relations , it gives great happiness
  • comment

  • जीने की राह कॉलम पं. विजयशंकर मेहता जी की आवाज में मोबाइल पर सुनने के लिए टाइप करें JKR और भेजें 9200001164 पर

गेंद से सुलूक खेल के अनुसार बदल जाता है। ऐसे खेल जिनमें गेंद काम करती है जैसे क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल, टेबल टेनिस वालीबॉल..। इनमें प्रमुख  होती है गेंद और हर खेल में उसका आकार, उसकी भूमिका अलग-अलग होती है।

 

खिलाड़ी खेलता तो गेंद से ही है। हार और जीत के फैसले भी उसी के आसपास होते हैं, लेकिन हर खेल में गेंद की भूमिका को जो खिलाड़ी समझ लेता है, उसकी जीत तय हो जाती है। मनुष्य के जीवन में रिश्ते गेंद की ही तरह हैं। रिश्तों की भूमिकाएं भी अलग-अलग ढंग से बदल जाती हैं। घर के भीतर, घर के बाहर कई प्रकार के रिश्ते होते हैं।

 

एक अच्छे खिलाड़ी की तरह जीवन के इस खेल में रिश्तों की अहमियत समझते हुए उनका सदुपयोग कीजिए। गेंद के साथ एक चीज कॉमन होती है कि वह आपको जितवा भी सकती है, हरवा भी सकती है। ऐसे ही जब रिश्ते जीवन में उपयोग में आ जाएं तो उस जीत का नाम खुशी है और यदि रिश्तों का दुरुपयोग हो जाए तो उसी का नाम गम है। रिश्तों में बड़ी ताकत होती है।

 

सदुपयोग कर लिया तो मानकर चलिए जीवन में खुशी आएगी ही। परिपक्व मनुष्य अकेले भी खुश रह सकता है। यहां परिपक्व से मतलब है जो थोड़ा योग का मतलब, उसका महत्व जानता हो, पर एक सामान्य व्यक्ति के लिए तो खुशी का एक बहुत बड़ा साधन उसके अपने रिश्ते ही होते हैं। तो रिश्तों का महत्व समझते हुए उनका मान करिए, समझ से निभाइए और परिणाम में भरपूर खुशी पाइए..।

COMMENT

Recommended

Click to listen..