--Advertisement--

मैनेजमेंट फंडा / सोशल मीडिया पर उम्र नहीं, हीरो बनाता है कंटेंट



Social Media does not have age, Hero creates content
X
Social Media does not have age, Hero creates content

  • मैनेजमेंट फंडा एन. रघुरामन की आवाज में मोबाइल पर सुनने के लिए टाइप करें FUNDA और SMS भेजें 9200001164 पर

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 12:01 AM IST

अगर आप युवा हैं और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने कमेंट्स, फोटो और वीडियो पोस्ट करते रहते हैं तो आपको चाहिए कि अपना रोल मॉडल बनाएं। नि:संदेह मैं इसके लिए मस्तनम्मा के नाम की सिफारिश करूंगा, जो आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में अपने गांव गुडीवाड़ा के धान के खेतों में बैठकर अपनी फिल्म शूट करती थीं।

 

झुर्रियों भरे चेहरे वाली यह बूढ़ी अम्मा झुकी कमर के साथ खेतों की ओर जाती है, कुछ सूखी टहनियां जमा करती हैै। ये लकड़ियां उसके मिट्टी के कच्चे चूल्हे के लिए ईंधन बनती हैं, जिस पर वह उस दिन का बेहतरीन व्यंजन पकाती है। यह अम्मा आपको कमाल के व्यंजन बनाना सिखा देती है। उनके शो में न कोई गैस कनेक्शन होता है, न मॉर्डन किचन और न खास उपकरण और कभी-कभी तो कोई बर्तन भी नहीं होता, फिर भी वह आपको जायके के उस सफर पर लेकर जाती है, जहां मिलते हैं सबसे स्वादिष्ट व्यंजन। 


एग डोसा के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते होंगे जो बिना झंझट आसानी से आसपास मिलने वाली चीजों से बनाया जा सकता है। इसी तरह से चिकन करी के बारे में तो पता है, पर लकड़ियों पर बिना बर्तन तरबूज के गूदा निकले खोल में पकाई जाने वाली चिकन करी शायद ही देखी हो! जरा ठहरिए, आपको कुछ आंकड़े सचमुच झटका देंगे।

 

ये अम्मा दुनिया की सबसे बुजुर्ग यूट्यूबर हैं। तीन दिन पहले 4 दिसंबर को जब मस्तनम्मा का निधन हुआ तो उनकी उम्र 107 वर्ष थी।  उनके यूट्यूब चैनल को अम्मा का पोता अपने दोस्त के साथ मिलकर संभालता है। यह 2016 में शुरू हुआ था और बहुत जल्दी ही हिट हो गया। अम्मा के कुछ वीडियो के व्यूज़ 1.10 करोड़ तक हैं।

 

उनके इमू एग फ्राय व्यंजन को 26 लाख व्यूज़ मिले हैं। पास 10 लाख सब्सक्राइबर्स हैं। अपने बनाए वीडियोज़ में, वह अक्सर खुले खेत में कम से कम साधनों और बर्तनों के साथ व्यंजन पकाती नज़र आती हैं। सब्जियों को नाखून से छीलती हैं और उन्हें बारीक करने के लिए एक पुराना चाकू इस्तेमाल करती हैं।  

 

ऐसा करने वाली वे अकेली नहीं हैं। एक और सत्तर बरस से ज्यादा वाले हुनरमंद हैं तेलंगाना के नारायण रेड्डी। नारायण ग्रैंडपा किचन नाम का चैनल चलाते हैं, जिसके 31 लाख सब्सक्राइबर हैं। हम कुरकुरे के बारे में अच्छी तरह जानते हैं, क्योंकि जूही चावला के विज्ञापन ने इसे मशहूर कर दिया, पर ओकरा कुरकुरे (कुरकुरी भिंडी) के बारे में कम ही जानते हैं जो ग्रैंडपा के किचन की ईजाद है और इसे फिश फ्राय के साथ परोसा जाता है।

 

उनके बिना ओवन चिकन पिज्ज़ा बनाने के वीडियो को 1.50 करोड़ व्यूज़ मिल चुके हैं। 19 लाख सब्सक्राइबर्स वाले पंजाबी विलेज फूड फैक्टरी नाम के चैनल को परविंदर सिंह और सरबजीत कौर चलाते हैं। पति-पत्नी की यह जोड़ी हरियाणा के भागलपुर में रहती है। कभी-कभी गांव की गलियों में, तो कभी अपने घर की छत पर बनाए इनके जायकेदार वीडियोज़ के प्रशंसक यूके, यूएस, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान समेत उन सभी जगहों पर हैं जहां पंजाबी लोगों की अच्छी आबादी रहती है।

 

उनके मशहूर वीडियोज में आटे के लड्डू, बुआ के कढ़ी पकोड़े और करेले की सब्जी है, जिनमें से हर एक को 15 लाख व्यूज़ मिल चुके हैं। यूट्यूब पर खाने-पीने के व्यंजनों का नया वर्टिकल 2016 में सामने आया और 2017 तक यह ट्रेंड चल निकला क्योंकि भारत के गांवों और छोटे कस्बों से कंटेंट पोस्ट होने लगा। इन वीडियो से इतना पैसा मिलने लगा कि बहुत से लोगों ने अपनी नौकरियां छोड़ दीं और फुल-टाइम वीडियो बनाने लगे। कुछ लोग तो महीने का एक लाख रुपए तक कमा रहे हैं। उन्हें समय-समय पर यूट्यूब के एक्सपर्ट की सलाह भी मिलती है।

 

फंडा यह है कि :   गांवों और छोटे कस्बों के महिला और पुरुषों के खास रेसिपीज़ के या सेल्फ हेल्प वीडियो को मशहूर बना रहा है अच्छा कंटेंट, न कि कोई दिखावा। आप अपने क्षेत्र में माहिर युवा हैं, अलग ढंग से सोचते हैं तो इनोवेटर्स की नई पीढ़ी में शामिल होकर चमक दिखाइए।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..