पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संकट में अपनी जिंदगी की जिम्मेदारी खुद लें

10 महीने पहलेलेखक: एन. रघुरामन
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

डर ने मेरे शहर मुंबई को जकड़ लिया है। जब दस पाकिस्तानी आतंकवादियों ने हमारे शहर पर हमला किया था और पॉइंट ब्लैंक रेंज पर कई सौ निर्दोष लोगों को मार डाला था, तब भी मेरा शहर निडर होकर सामान्य तरीके से रोजमर्रा के काम कर रहा था। लेकिन 2020 के कोरोना वायरस का मामला अलग लग रहा है। भारत में गुरुवार को कर्नाटक में पहली मौत की रिपोर्ट आई और मुंबई में पिछले तीन दिनों में हर गुजरते दिन के साथ कोरोना वायरस के नए मामलों की रिपोर्ट आ रही हैं। लोगों के कपड़े पहनने का तरीका बदल चुका है। मेरे फैशन से प्रेरित शहर में, दस्ताने और मास्क पहने लोग, कैजुअल कपड़े पहने लोगों की तुलना में अधिक देखे जा रहे हैं। गुरुवार और शुक्रवार को सड़क पर ऑटो रिक्शा और टैक्सियों में कम भीड़ देखी गई, जबकि व्यस्त रेलवे स्टेशनों में कम से कम चार लोग हर घंटे एस्केलेटर के हैंडल की सफाई करते देखे गए। जबकि एस्केलेटर पर यात्रा करने वाले कुछ भी छू नहीं रहे हैं, एक नया सलीका जो पिछले 48 घंटों में मुंबईकरों में देखने को मिला। कई सार्वजनिक कार्यक्रमों के रद्द होने के साथ-साथ फिल्म ‘सूर्यवंशी’ की रिलीज और सिने पुरस्कार भी रुक गए। मतलब मुंबई ने सचमुच ‘पैनिक बटन’ दबा दिया है। लेकिन समय की मांग है कि हम सावधानी बरतें, न कि हजारों और लोगों को मुसीबत में डाल दें। शहर के नागरिक निकाय द्वारा एक बहुत अच्छा निर्णय लिया गया, जिसके तहत शुक्रवार को 700 बेड का अस्पताल एक साल बाद दोबारा खोला गया, जो नागरिक निकाय को प्रॉपर्टी टैक्स का भुगतान नहीं करने की वजह से बंद कर दिया गया था। तेरह महीने से बंद ‘सेवन हिल्स’ अस्पताल को मुंबई के सबसे बड़े क्वारंटीन (संगरोध) केंद्र के रूप में तुरंत इस्तेमाल करने का सुझाव दिया गया था। ये सुझाव देने वाले और कोई नहीं महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे थे। ऐसा करने से शहर के कई नागरिक अस्पतालों को बड़ी राहत मिल सकती है। एक नई टीम बनाई गई है जो शुक्रवार से बंद अस्पताल को तत्काल चालू करने के लिए जुटेगी। बिजली, पानी, दवाओं और आपातकालीन वस्तुओं जैसी विभिन्न सुविधाओं के आपूर्तिकर्ता भी जरूरतों को पूरा करने के लिए टीम में शामिल होंगे। मुंबई जैसे बड़े शहर में प्रति दिन 300 सैंपल का परीक्षण करने के लिए केवल एक केंद्र है। इसलिए शहर प्रत्येक 1000 ब्लड सैम्पल्स का परीक्षण करने के लिए प्रत्येक स्थान पर ऐसी दो और केंद्रों को जोड़ने की योजना बना रहा है। शुक्रवार दोपहर महाराष्ट्र के सभी स्कूलों को बंद रखने के लिए भी कह दिया गया है। कुछ सहकारी सोसाइटीज ने प्रवेश द्वार पर वॉशबेसिन रखना शुरू कर दिया है। बिल्डिंग में प्रवेश करने से पहले सभी को अपने हाथ धोने के लिए कहा जा रहा है। जिन लोगों ने मास्क लगा रखा है, उन्हें प्रवेश करने दिया जाता है। बाकी लोगों को कहा जाता है कि वे सामान चौकीदारों के पास छोड़ जाएं, जिनका है, उन्हें दे दिया जाएगा। सोसायटी के यात्रा कर रहे सभी लोगों को सूचीबद्ध कर स्वास्थ्य जांच करने के लिए कहा जा रहा है। पुणे में किसी भी परिसर में प्रवेश से पहले सभी मिलने वाले और कर्मचारियों के लिए फेस मास्क पहनना और हाथ धोना अनिवार्य कर दिया गया है। स्वास्थ्य अधिकारियों और हेल्पलाइन नंबरों के संपर्क विवरण नोटिस बोर्ड पर लगाए जा रहे हैं, जबकि वॉट्सएप के माध्यम से सभी सोसाइटी के सदस्यों को क्या करें और क्या न करें, इसके बारे में बताया जा रहा है। सोसाइटी के सदस्य स्पष्ट रूप से चाहते हैं कि वे उस दिन का इंतजार न करें जब दूसरे सदस्यों को बंद कर दिया जाए या अस्पताल ले जाकर अलग कमरे में रखा जाए। फंडा यह है कि  मुंबई शहर की तरह ‘पैनिक बटन’ दबाने का इंतजार न करें। जब कोई संकट आता है, तो प्रत्येक व्यक्ति और प्रत्येक समूह को जिम्मेदारी संभालनी पड़ती है, बिना यह सोचे कि दूसरे इसके बारे में क्या कहेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser