पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Opinion
  • Goodness Should Be Associated With Confidence, There Will Be Goodness Within And If There Is No Confidence Then Goodness Will Not Be Of Much Use.

पं. विजयशंकर मेहता का कॉलम:अच्छाई आत्मविश्वास से जुड़ी रहे, भीतर अच्छाई होगी और आत्मविश्वास नहीं होगा तो अच्छाई बहुत अधिक काम नहीं आएगी

11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पं. विजयशंकर मेहता - Dainik Bhaskar
पं. विजयशंकर मेहता

बुरे लोग भी कमाल के होते हैं। जिसका कत्ल करते हैं, उसी के उठावने में पहुंच जाते हैं। शांति पाठ कर लेते हैं, प्रार्थना करते हैं कि कातिल जल्दी पकड़ा जाए, उसे सख्त सजा मिले। फिर सरेआम घूमते हैं। यह बुरे लोगों के काम का छोटा-सा उदाहरण है। बुराई के अलग-अलग रूप में ये लोग अलग-अलग ढंग से काम करते हैं और खुद को बचा ले जाते हैं।

अच्छे लोग अक्सर परेशान रहते हैं। इन दिनों जब सब अपने-अपने हिसाब से संघर्ष कर रहे हैं, अच्छे लोग दोहरी परेशानी झेल रहे हैं। एक तो व्यवस्था के कुशासन की मार पड़ रही है, दूसरा उनको खुद से ही लड़ना पड़ रहा है। हमें ये समझना चाहिए कि अच्छाई और आत्मविश्वास में अंतर है। भीतर अच्छाई होगी और आत्मविश्वास नहीं होगा तो अच्छाई बहुत अधिक काम नहीं आएगी।

देखा गया है कि बुरे आदमी में अपनी बुराई को लेकर आत्मविश्वास ज्यादा होता है। इसलिए यदि आपके भीतर अच्छाई है तो प्रयास करिए कि आत्मविश्वास भी उतना ही हो। यदि आत्मविश्वास जाग गया तो आप अपनी अच्छाई की उद्घोषणा कर सकेंगे जो दूसरों के लिए प्रेरणा बनेगी। इस समय जो माहौल है, इसमें देखा यह जा रहा है कि अच्छे लोग जल्दी घबरा जाते हैं। इसलिए प्रयास करिए हमारी अच्छाई आत्मविश्वास से जुड़ी रहे। यह आत्मविश्वास जागेगा योग करने से।

खबरें और भी हैं...