• Hindi News
  • Opinion
  • Gossip Isn't A Bad Thing If Gossip Gives Your Brain A Sufficient Dose Of Knowledge, And After It's Over You Have A Little More Knowledge Than Before.

एन. रघुरामन का कॉलम:अगर गप्पें दिमाग को ज्ञान की पर्याप्त खुराक दें और इनके खत्म होने के बाद आपके पास पहले से थोड़ा ज्यादा ज्ञान हो, तो गॉसिप करना बुरा नहीं है

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु - Dainik Bhaskar
एन. रघुरामन, मैनेजमेंट गुरु

इस गुरुवार की रात लंदन और अमेरिका के मेरे दोस्तों के साथ मेरा 45 मिनट का ऑनलाइन गॉसिप सेशन रहा, जिससे मुझे विभिन्न क्षेत्रों के बारे में पता चला। हेल्दी गॉसिप के लिए अमीर होना जरूरी नहीं है, लेकिन शर्त यही है कि आपके दोस्तों का सर्कल होशियार होना चाहिए। ये रहे हमारे गॉसिप (गपशप या गप्पें) के कुछ विषय।

गॉसिप 1: शुरुआत शुक्रवार को दुनियाभर में रिलीज हुई फिल्म ‘द रेस्क्यू’ से शुरू हुई, जो 2018 में बाढ़ में डूबी थाइलैंड की थाम लुआंग गुफा में फंसे 12 युवा सॉकर खिलाड़ियों और उनके कोच को बचाने की कहानी है। धीरे-धीरे गॉसिप अभिनेत्री यूलिया पेरेसिल्ड (37) और निर्देशक क्लिम शिपेनको (38) ‌को ऑर्बिट में पहली फिल्म बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन भेजने की रूस की क्षमता पर आ गई। इसने बेशक टॉम क्रूज, नासा और एलन मस्क की कंपनी ‘स्पेसएक्स’ द्वारा पिछले साल घोषित हॉलीवुड प्रोजेक्ट को पीछे छोड़ दिया।

गॉसिप 2: फिर हम अपराध पर आ गए। न्यूयॉर्क के गैंग्स्टर और लुटेरे इन दिनों सख्त, मजबूत शरीर वाले और रास्ते की बाधाएं झेलने वाले हर व्यक्ति को अपना दोस्त नहीं बना रहे। इसकी बजाय वे अपने मोबाइल नंबर देने या उन्हें गैंग का सदस्य बनाने से पहले उनकी बुद्धिमत्ता जांच रहे हैं। यकीन नहीं होता न, पर यह सच है। वे ‘होशियार और अनुशासित गैंग मेंबर’ खोज रहे हैं। जी हां, कुछ सदस्य नियमों के पालन और इटालियन माफिया के तौर-तरीकों को अपनाने में अक्षम हैं। इनमें कुछ तो टेक्स्ट मैसेज से धमकियां भेजते हैं।

यह बताता है कि न्यूयॉर्क का संगठित अपराध, अब संगठित नहीं रहा। उनका गिरता स्टैंडर्ड हाल के अदालती दस्तावेजों में भी दिख रहा है। इनमें लुटेरों के कथित संदेश शामिल हैं, जिनमें वे ‘अपने बिजनेस’ (स्वाभाविक है वसूली) पर बात कर रहे हैं और टेक्स्ट मैसेज से ‘बिजनेस का फॉलोअप’ ले रहे हैं, जिससे जांचकर्ताओं को डिजिटल सबूत मिल रहे हैं और गैंग्स्टर के ‘पूर्वज’ डर से पीले पड़ रहे हैं। एफबीआई मानता है कि इन गैर-अनुभवी गैंगस्टर्स ने अपने से ऊपर मौजूद गैंगस्टर्स को नाराज कर दिया है क्योंकि उन्हें मोबाइल की लत है। संक्षेप में ये होशियार लोग मूर्खतापूर्ण गलतियां कर रहे हैं, जिससे असली गैंग्स्टर पकड़ा जा सकता है।

गॉसिप 3: फिर हमने खाने की जीवनशैली पर बात की। अमीर लोगों में वीगन जीवनशैली बढ़ रही है। इससे सितंबर से मैग्डॉनल्ड के बर्गर ही वीगन नहीं हुए हैं, बल्कि नवंबर से दुनिया के कुछ हिस्सों में वीगन चॉकलेट भी शुरू होगी। जी हां, भविष्य में आपकी डेरी मिल्क, बिना डेरी की होगी। हर बार (चॉकलेट) को बनाने में डेढ़ गिलास दूध इस्तेमाल करने वाली कंपनी अब ‘कैडबरी प्लांट बार’ में बादाम का पेस्ट इस्तेमाल करेगी। बार की खोज में दो साल लगे हैं।

कैडबरी क्लासिक बार का पौधों पर आधारित स्वरूप यूके में अगले महीने से दो फ्लेवर में बिकेगा: स्मूद चॉकलेट और दूसरा सॉल्टेड कैरमल के टुकड़ों संग। कंपनी धीरे-धीरे वीगन रेंज बढ़ाएगी। दुनिया की सबसे बड़ी फूड कंपनी नेस्ले भी इसमें बहुत पीछे नहीं है। वह पहले ही ‘vEGGie’ बना चुकी है, जो असली अंडे का विकल्प है और इससे अंडा भुर्जी बना सकते हैं। यह सोय प्रोटीन से बना है जो कुक्स के लिए बहुउपयोगी सामग्री है। यह भी नवंबर से बाजार में आएगा। दुनिया में कई जगह स्थानीय वीगन बेकरी की मौजूदगी और अमीरों के बीच वीगन रेसिपी साझा होना अब चलन में है।

खबरें और भी हैं...