• Hindi News
  • Opinion
  • Jayprakash Chouksey's Column Joy Ghosh And Kareena's New Film Will Be As Interesting As 'Kahaani'

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम:जॉय घोष और करीना की नई फिल्म ‘कहानी’ की तरह रहेगी रोचक

9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जयप्रकाश चौकसे, फिल्म समीक्षक - Dainik Bhaskar
जयप्रकाश चौकसे, फिल्म समीक्षक

काफी दिनों से करीना कपूर ने कोई फिल्म अभिनीत नहीं की है। दरअसल वे घर पर ही अपने बच्चों की परवरिश में व्यस्त थीं। वैसे भी महामारी के कारण अन्य सभी उद्योगों की तरह फिल्मोद्योग भी ठप्प पड़ा था। अब ताजा खबर यह है कि फिल्मकार सुजॉय घोष, करीना कपूर के साथ फिल्म बनाने जा रहे हैं, जिसकी शूटिंग बंगाल के पहाड़ी क्षेत्रों में की जाएगी।

सुजॉय घोष ने ‘झंकार बीट्स’, ‘होम डिलीवरी’ और ‘अलादीन’ नामक जैसी कई फिल्में निर्देशित की हैं। जयंतीलाल गढ़ा ने उन्हें विद्या बालन अभिनीत फिल्म ‘कहानी’ बनाने का अवसर दिया। नतीजतन, इस फिल्म ने धन कमाया और खूब प्रशंसा पाई। इसे आतंकवाद के खिलाफ एक बड़ी अहम फिल्म कहा जा सकता है। ‘कहानी’ फिल्म में एक आतंकवादी ने दहशत फैलाने के लिए एक ट्रेन में आतंकी हमला कर दिया था।

इस आतंकी हमले में निर्दोष लोग मारे गए और एक आला अफसर को किसी तरह यह समझ आता है कि इस घटना के पीछे आतंकवादियों और आला अफसरों की सांठगांठ है। यही वजह है कि आला अफसर इसके पीछे के रहस्यों पर परदा डाल रहे हैं। उस आतंकवादी ने अपनी सुरक्षा की ऐसी व्यवस्था की है कि उसने अपनी पहचान सबसे छुपा कर रखी है। उसके सबसे नजदीकी व्यक्ति ने भी उसे देखा नहीं है।

वह कभी किसी के सामने नहीं आया है। जिस आला अफसर को यह अनुमान है कि ऊंचे पद पर बैठे लोग कभी सच उजागर नहीं करने देंगे, वह अफसर अंधी व्यवस्था के कार्यकलाप से निराश होकर अपने पद से इस्तीफा दे देती है। लेकिन वह निश्चय कर चुकी है कि वह असली अपराधी को खोजेगी। फिल्म में विद्या बालन अभिनीत पात्र गर्भवती के रूप में कोलकाता के एक साधारण होटल में कमरा लेती है।

वह अन्य लोगों को विश्वास दिला देती है कि उसका पति कुछ माह पूर्व ही कोलकाता अपनी कंपनी के काम से आया था। कोलकाता से उसने अपनी पत्नी से फोन पर कई बार बात की है परंतु कुछ समय से उनका संपर्क टूट गया है। वह पुलिस दफ्तर में अपने गुमशुदा पति की रपट दर्ज कराती है। पुलिस विभाग में केवल एक व्यक्ति उसकी सहायता करता है। वह अफसर को अपने गुमशुदा पति के बारे में सब कुछ बताती है। उसे साथ लेकर वह उस स्कूल भी जाती है, जहां उसके पति ने पढ़ाई की थी।

नायिका प्राय: पुलिस विभाग के कंप्यूटर दुरुस्त भी कर देती है। साथ ही वह अपने काम की जानकारी भी हासिल कर लेती है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने इसमें सेंट्रल ब्यूरो के अफसर की भूमिका अभिनीत की है। नवाजुद्दीन, निकम्मे लोगों को डांटता- फटकरता रहता है। एक कांट्रेक्ट किलर बीमा कंपनी में मुलाजिम होने का नाटक करता है।

बॉब बिस्वास नामक यह पात्र हमेशा चेहरे पर मुस्कान लिया कत्ल करने से पहले अपने शिकार को बड़े आदर के साथ नमस्कार करता है। बॉब बिस्वास पात्र इतना लोकप्रिय हुआ कि उसे केंद्र में रखकर एक अन्य फिल्म भी बनाई गई, लेकिन इस फिल्म को सराहा नहीं गया।

बहरहाल, करीना कपूर सुजॉय घोष की फिल्म की शूटिंग, बंगाल के पहाड़ी क्षेत्र में की जाने वाली है। माना यह भी जा रहा है कि यह फिल्म भी ‘कहानी’ की तरह रोचक रहेगी। बंगाल का यह पहाड़ी क्षेत्र फिल्म में एक पात्र की तरह प्रस्तुत होगा। करीना कपूर ने विगत दिनों में कुछ पटकथाएं पढ़ी हैं। उन्होंने सुजॉय घोष की फिल्म को चुना है।

करीना कपूर को इम्तियाज अली की ‘जब वी मेट’ में श्रेष्ठ अवसर मिला था और उनके काम को प्रशंसा भी मिली। अब सुजॉय घोष और करीना के साथ आने से मनोरंजन जगत में नई आशा जागती है। साथ ही सुजॉय के साथ करीना को स्वयं को और अधिक परिपक्व करने का मौका मिलेगा।

खबरें और भी हैं...