पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Opinion
  • The Real Election Battle In West Bengal Is Being Fought On The Issue Of Innocence, We Are Not Saying Anything About That Innocence.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डॉ. भारत अग्रवाल का कॉलम:पश्चिम बंगाल में असली चुनावी लड़ाई मासूमियत के मुद्दे पर लड़ी जा रही, हम उस वाली मासूमियत के बारे में कुछ नहीं कह रहे

17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. भारत अग्रवाल - Dainik Bhaskar
डॉ. भारत अग्रवाल

वन नेशन, पांच इलेक्शन, दो मासूमियत
पश्चिम बंगाल में असली चुनावी लड़ाई मासूमियत के मुद्दे पर लड़ी जा रही हैं। ना... हम उस वाली मासूमियत के बारे में कुछ नहीं कह रहे हैं। हम तो पश्चिम बंगाल कांग्रेस की बात कर रहे हैं- बिना तृणमूल वाली की। अब देखिए इस वाली कांग्रेस के तीनों स्टार प्रचारक- सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार करने अभी तक नहीं गए हैं।

प्रदेश इकाई को (मासूमियत से) बता दिया गया है कि क्या करें, अभी दूसरी जगह व्यस्त हैं, तीसरे चरण की वोटिंग के बाद जरूर आएंगे। अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने भी (उतनी ही मासूमियत से) वही कह दिया, जो उनसे कहा गया।

संकट सिर्फ यह है कि इस मासूमियत पर कुर्बान होने के लिए राजी कौन है? बीजेपी इस लोकतांत्रिक मासूमियत का मजाक उड़ा रही है। उसका कहना है कि तीनों चुनाव प्रचार में इसलिए नहीं आ रहे हैं क्योंकि केरल में कांग्रेस वामपंथियों के खिलाफ लड़ रही है और पश्चिम बंगाल में उन्हीं से गठबंधन में है। कहीं वहां जोश में वामपंथियों के खिलाफ कुछ बोल दिया, तो फिर यहां फिर मासूमियत का मजाक बनेगा।

एक इलेक्शन, कई मासूमियत
वैसे मासूमियत तो ममता दीदी की भी काबिले गौर है। उस सबके बाद... उन्होंने 14 पार्टियों के नेताओं को पत्र लिखा। मदद मांगी। जो दे उसका भी भला..। दीदी ने सुपर कॉमरेडों को लिखा और डुपर कॉमरेडों को भी लिखा। बस खालिस कॉमरेडों को नहीं लिखा। पत्र मिलने से कॉमरेड और कांग्रेस- सब खुश हैं, बस जश्न नहीं मना रहे हैं। चुनाव बाद देखा जाएगा।

श्रीधरन को सिग्नल!
मेट्रो मैन श्रीधरन अब सीएम रेस से बाहर हो गए हैं। सुना है कि इशारा हाईकमान की तरफ से हुआ था। आखिर श्रीधरन को हाईकमान ने क्या कहा होगा? सूत्रों का कहना है कि उनसे कहा गया कि अभी तो केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार भी होना है और बीजेपी में यह परंपरा है कि सदस्यों की योग्यता का इस्तेमाल पार्टी उचित समय और उचित जगह पर करती है। मतलब यह कि... आप समझ ही गए।

साहब डिफिशिएंसी
भारत साहब डिफिशिएंसी का सामना कर रहा है। पूरे देश में आईएएस-आईपीएस अधिकारियों के 20 प्रतिशत पद खाली पड़े हैं। आईएएस-आईपीएस अधिकारियों के कुल 11 हजार 697 पद हैं। इनमें से 2 हजार 418 पद खाली पड़े हैं। माने सिर्फ 9 हजार 279 साहब लोग काम पर हैं। इनमें से 942 आईएएस नियमित भर्ती के रास्ते से आए हैं और बाकी प्रमोट होकर आए हैं। इसी तरह 460 आईपीएस नियमित भर्ती वाले हैं और बाकी पदोन्नति वाले।

अलग मोदी जैकेट डेस्क
मोदी जैकेट भारत में बहुत लोकप्रिय हो चुकी है। खादी ग्रामोद्योग विभाग में भी मोदी जैकेट के लिए एक अलग डेस्क है। ग्राहकों की विशाल संख्या है। गुजरात में ही नहीं, राजधानी दिल्ली के खान बाजार में भी मोदी जैकेट बहुत लोकप्रिय ब्रांड है। एक समय में देश में नेहरू जैकेट बहुत लोकप्रिय होती थी। लेकिन उन दिनों विपणन इतना सक्षम नहीं था।

जैकेट के अंदर क्या है?
उधर ढाका में मुजीब जैकेट बहुत लोकप्रिय हो गई है। अपनी हाल की ढाका यात्रा में मोदी ने भी मुजीब जैकेट पहना। भारतीय उच्चायोग के सभी अधिकारी भी इन्हीं जैकेट में दिखे। पर यह आइडिया था किसका? सुना है कि कभी ढाका में उच्चायुक्त रहे हर्ष सिंगला से मौजूदा उच्चायुक्त विक्रम दोराई स्वामी ने इसपर चर्चा की थी। प्रधानमंत्री को यह आइडिया पसंद आया। फिर खादी ग्रामोद्योग से 100 मुजीब जैकेट भारतीय उच्चायोग को भिजवा दी गईं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

और पढ़ें