• Hindi News
  • Opinion
  • Writers Are Becoming The Center Of Wonderful Cinematic Experience, Nowadays Entertainment Companies Are Trying The Concept Of 'writers Room'

मोनिका शेरगिल का कॉलम:अद्‌भुत सिनेमाई अनुभव का केंद्र बन रहे हैं लेखक, आजकल मनोरंजन कंपनियां ‘राइटर्स रूम’ जैसा कॉन्सेप्ट आजमा रही हैं

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोनिका शेरगिल, वाइस प्रेसिडेंट-कंटेंट, नेटफ्लिक्स इंडिया - Dainik Bhaskar
मोनिका शेरगिल, वाइस प्रेसिडेंट-कंटेंट, नेटफ्लिक्स इंडिया

प्यार भरी रोमांटिक कॉमेडी ‘लिटिल थिंग्स’ में ध्रुव और काव्या द्वारा शेयर किए गए प्यारे लम्हों को देखने के बाद उन्हें और देखने की चाहत होती है। इसी तरह ‘हसीन दिलरुबा’ की मर्डर मिस्ट्री आपको कुर्सी से बांधकर रखती है और आप उत्सुक रहते हैं कि यह कहानी आगे कैसे बढ़ेगी। जब ‘सेक्रेड गेम्स’ में गणेश गायतोंडे (नवाजुद्दीन सिद्दीकी द्वारा अभिनीत) कहता है ‘कभी-कभी लगता है अपुन ही भगवान है’। या जब ‘लूडो’ में आलोक (राजकुमार राव द्वारा अभिनीत) कहता है, ‘कुछ रिश्तों में लॉजिक नहीं, सिर्फ मैजिक होता है’ तो हममें से कई लोग इनका लुत्फ उठाने के साथ-साथ हर रोज महसूस करने वाले कई एहसासों से रूबरू होते हैं। ये सभी शानदार लेखन के बेहतरीन उदाहरण हैं।

कई मायनों में राइटर्स यानी कि लेखक बेहद पसंदीदा फिल्मों, सीरीज और कैरेक्टर्स के सुपरस्टार्स हैं। वे किरदारों को परिभाषित करके, उनकी दुनिया को आपस में जोड़कर, सहेजकर कहानी को शुरुआत से अंत तक लेकर जाते हैं। और इस सब के साथ-साथ वह हमें अलग-अलग इमोशंस महसूस कराकर एक अद्‌भुत सिनेमाई अनुभव प्रदान करते हैं।

लेखक समझते हैं कि कहानियां लोगों का मनोरंजन करने से ज्यादा सहानुभूति, सकारात्मक बदलाव और प्रभावित करती हैं और दुनिया की बेहतर समझ प्रस्तुत करती हैं। विशेष रूप से ऐसे समय में, जब हमारे आस-पास की दुनिया अनिश्चितताओं से जूझ रही है, हमें काफी हद तक अपने घरों में ही रहना पड़ रहा है, तब इन कहानियों ने हमें नई जगहों, लोगों और नए दृष्टिकोणों से परिचित कराया है।

नेटफ्लिक्स हो या उस जैसी बाकी स्ट्रीमिंग सेवाओं ने भारत में मनोरंजन के स्वर्णिम युग की शुरुआत की है। इंटरनेट हर कहानी के लिए दुनिया भर में सही दर्शकों को खोजने की क्षमता रखता है। यही कारण है कि लेखक ऐसी कहानियों को आगे बढ़ाने में सक्षम हो रहे हैं, जो विविध, मूल, स्थानीय और अभूतपूर्व हैं। वे बड़े और रचनात्मक कदम उठा रहे हैं और परिणामस्वरूप, हम जो देख रहे हैं वे ऐसी कहानियां है जो लेखकों के दिल के करीब हैं।

ऐसी कहानियां, जिनको लिखने का उन्होंने हमेशा से सपना देखा है। उन विषयों के बारे में, जिनकी वे परवाह करते हैं या वास्तव में उनसे प्रेरित हैं। वे ऐसे किरदार तैयार कर रहे हैं या गढ़ रहे हैं, जो हमारे लिए यादगार बन जाते हैं। ‘दिल्ली क्राइम’ में वर्तिका चतुर्वेदी की निडरता से लेकर ‘मिसमैच्ड’ में डिंपल और ऋषि की दिल को छू जाने वाली केमिस्ट्री तक।

इतना ही नहीं भारत की इन कहानियों को पूरी दुनिया में दर्शक देख रहे हैं। ‘दिल्ली क्राइम’ ने भारत का पहला अंतरराष्ट्रीय एमी अवॉर्ड जीता, क्राइम थ्रिलर हसीन ‘दिलरुबा’ ने 22 देशों में नेटफ्लिक्स टॉप-10 में अपनी जगह बनाई या तमिल ब्लॉकबस्टर ‘जगमे थंदीरम’ जिसके पहले हफ्ते में आधे से ज्यादा दर्शक भारत से बाहर के थे.. ये कुछ ऐसे चंद उदाहरण हैं, जो बताते हैं कि कैसे विश्वसनीय और सच्ची लगने वाली कहानियां सार्वभौमिक हैं।

इन अद्‌भुत, अविश्वसनीय और सम्मोहक कहानियों ने पीछे छिपे लेखकों की प्रतिभा पर एक बहुत ही आवश्यक रोशनी डाल दी है, जिन्होंने कहानी कहने में नए मानक स्थापित किए हैं। जैसे-जैसे ऐसी विश्वसनीय कहानियों की मांग बढ़ रही है, हमें सर्वोत्तम प्रणालियों में निवेश करने की आवश्यकता है, जिससे लेखक को सेंटर स्टेज पर लाया जा सके।

राइटर्स रूम एक कॉन्सेप्ट है जिसका इस्तेमाल नेटफ्लिक्स जैसी एंटरटेनमेंट कंपनियां करती हैं, जहां एक सीरीज पर काम करने वाले लेखक एक साथ मिलकर कहानियों के किरदारों के सफर को और दिलचस्प बनाते हैं। हम इस बात से भी रोमांचित हैं कि स्ट्रीमिंग सर्विसेज ने प्रतिभाशाली और उत्साहित नए लेखकों की खोज को आसान बना दिया है।

2021 में हमें भारत में अपनी फिल्मों और सीरीज पर नौ नए लेखकों के साथ काम करके गर्व महसूस हो रहा है। और जबकि यह एक शानदार शुरुआत है, हम जानते हैं कि हमें अभी एक लंबा रास्ता तय करना है। एक खाली पन्ने से लेकर स्क्रीन तक की एक आइडिया की यात्रा के साथ रचनात्मक समुदाय के साथ सहयोग करके इस यात्रा को आसान बनाया जा सकता है।

यही कारण है कि हम कदम बढ़ा रहे हैं और राइटिंग वर्कशॉप्स पर उनके साथ साझेदारी कर रहे हैं जैसा हमने नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एनएफडीसी) के साथ किया है। मनोरंजन के इस स्वर्णिम युग में, हम यह देखने के लिए उत्साहित हैं कि देश भर में अधिक से अधिक प्रतिभाशाली लेखकों द्वारा तैयार की गई स्क्रिप्ट भारतीय मनोरंजन के भविष्य को कैसे आकार देती हैं।
(ये लेखिका के अपने विचार हैं)

खबरें और भी हैं...