पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोनिका शेरगिल का कॉलम:ऑनलाइन स्ट्रीमिंग में कई मायनों में लेखक बेहद पसंदीदा फिल्मों, सीरीज और किरदारों के सुपरस्टार्स हैं

18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मोनिका शेरगिल, वाइस प्रेसिडेंट-कंटेंट नेटफ्लिक्स इंडिया - Dainik Bhaskar
मोनिका शेरगिल, वाइस प्रेसिडेंट-कंटेंट नेटफ्लिक्स इंडिया

हसीन दिलरुबा की मर्डर मिस्ट्री आपको कुर्सी से बांधकर रखती है। जब सेक्रेड गेम्स में गणेश गायतोंडे (नवाजुद्दीन सिद्दीकी द्वारा अभिनीत) कहता है कभी-कभी लगता है अपुन ही भगवान है या जब लूडो में आलोक (राजकुमार राव द्वारा अभिनीत) कहता है, ‘कुछ रिश्तों में लॉजिक नहीं, सिर्फ मैजिक होता है’ तो हममें से कई लोग हर रोज महसूस करने वाले एहसासों से रूबरू होते हैं। ये सभी शानदार लेखन के उदाहरण हैं।

कई मायनों में लेखक बेहद पसंदीदा फिल्मों, सीरीज और किरदारों के सुपरस्टार्स हैं। वे किरदारों को परिभाषित करके, उनकी दुनिया को आपस में जोड़कर, सहेजकर कहानी को शुरू से अंत तक लेकर जाते हैं। वे हमें अलग-अलग इमोशंस महसूस करा एक अद्भुत सिनेमाई अनुभव प्रदान करते हैं। लेखक समझते हैं कि कहानियां लोगों का मनोरंजन करने से ज्यादा सहानुभूति पैदा करने, सकारात्मक बदलाव लाने, प्रभावित करने का काम करती हैं। विशेष रूप से ऐसे समय में, जब हमारे आस-पास की दुनिया अनिश्चितताओं से जूझ रही है, तब इन कहानियों ने हमें नई जगहों, लोगों और नए दृष्टिकोणों से परिचित कराया है।

स्ट्रीमिंग सेवाओं ने भारत में मनोरंजन के स्वर्णिम युग की शुरुआत की है। इंटरनेट हर कहानी के लिए दुनियाभर में सही दर्शकों को खोजने की क्षमता रखता है। यही कारण है कि लेखक ऐसी कहानियों को आगे बढ़ाने में सक्षम हो रहे हैं, जो विविध, मूल, स्थानीय और अभूतपूर्व हैं। वे बड़े, रचनात्मक कदम उठा रहे हैं और परिणामस्वरूप, हम जो देख रहे हैं वे ऐसी कहानियां है जो लेखकों के दिल के करीब हैं, उन विषयों के बारे में, जिनकी वे परवाह करते हैं या उनसे प्रेरित हैं। वे ऐसे किरदार तैयार कर रहे हैं यादगार बन जाते हैं।

इतना ही नहीं, भारत की इन कहानियों को पूरी दुनिया में दर्शक देख रहे रहे है। दिल्ली क्राइम ने भारत का पहला अंतर्राष्ट्रीय एमी अवार्ड जीता। क्राइम थ्रिलर हसीन दिलरुबा ने 22 देशों में नेटफ्लिक्स टॉप 10 में जगह बनाई या तमिल फिल्म जगमे थंदीरम के पहले हफ्ते में आधे से ज्यादा दर्शक भारत के बाहर के थे। ये ऐसे उदाहरण हैं जो बताते हैं कि कैसे ऑथेंटिक कहानियां सार्वभौमिक हैं। इन अद्भुत, अविश्वसनीय, सम्मोहक कहानियों ने पीछे छिपे लेखकों को मुख्यधारा में ला दिया है। जिन्होंने स्टोरीटेलिंग में नए मानक स्थापित किए हैं।

जैसे-जैसे ऐसी विश्वसनीय कहानियों की मांग बढ़ रही है, हमें सर्वोत्तम प्रणालियों में निवेश की जरूरत है, जिससे लेखकों को केंद्र में ला सकें। राइटर्स रूम एक कॉन्सेप्ट है जिसका इस्तेमाल कई एंटरटेनमेंट कंपनियां करती हैं, जहां एक सीरीज पर काम करने वाले लेखक मिलकर कहानियों के किरदारों के सफर को दिलचस्प बनाते हैं। स्ट्रीमिंग सर्विसेज ने प्रतिभाशाली और उत्साहित नए लेखकों की खोज को आसान बना दिया है।

हम जानते हैं कि हमें अभी एक लंबा रास्ता तय करना है। एक खाली पृष्ठ से स्क्रीन तक की एक आइडिया की यात्रा को रचनात्मक समुदाय के साथ सहयोग से आसान बनाया जा सकता है। यही कारण है कि हम कदम बढ़ा रहे है और राइटिंग वर्कशॉप्स पर उनके साथ साझेदारी कर रहे हैं जैसा हमने नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एनएफडीसी) के साथ किया है। मनोरंजन के इस स्वर्णिम युग में, हम यह देखने के लिए उत्साहित हैं कि देश भर में अधिक से अधिक प्रतिभाशाली लेखकों द्वारा तैयार की गई स्क्रिप्ट भारतीय मनोरंजन के भविष्य को कैसे आकार देती हैं। (ये लेखिका के अपने विचार हैं)