पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Opinion
  • Yoga Is Our Mirror, Which Shows What You Are; Take Some Time To Get To Know Yourself During This Difficult Time

पं. विजयशंकर मेहता का कॉलम:योग हमारा दर्पण है, जो दिखाता है आप हैं क्या; इस कठिन दौर में थोड़ा समय अपने आपको जानने के लिए निकालिए

19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पं. विजयशंकर मेहता - Dainik Bhaskar
पं. विजयशंकर मेहता

थोड़ा इस बात पर विचार कीजिए कि आप किस तरह से जी रहे हैं। मतलब जैसे हैं, वैसे जी रहे हैं या दूसरों को देखकर उनकी नकल करके अपना जीना तय कर रहे हैं। हम लोगों की एक कमजोरी होती है कि पहले बाहर देखते हैं। कोई धनवान-पैसे वाला दिखे तो अपने आपको वैसा बनाने की कल्पना में लग जाते हैं। किसी बहुत पावरफुल व्यक्ति को देखकर हमारे भीतर भी रुतबा पाने की इच्छा अंगड़ाई लेने लगती है। फिर वो ही करने लगते हैं, जो वह कर रहा है।

हममें से कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने इस दौर में बहुत कुछ खो दिया। दुख कई शक्लों में आया। ऐसे में हम दूसरे जो अच्छे रह गए, जो समर्थ दिख रहे हैं, उनके जैसा बनने की कोशिश करने लगते हैं। यहीं से अशांति बढ़ने लगती है। तो बुनियादी रूप से जो और जैसे हैं, वैसे ही जीने का प्रयास करें। यह भगवान का चमत्कार ही है कि दुनिया में जितने लोग हैं, सब अलग-अलग हैं और हर एक अपने जैसा है।

एक-दूसरे जैसा परमात्मा ने किसी को बनाया ही नहीं। लेकिन, ‘हम सबसे अलग हैं’ यह जानने की कोशिश न करके दूसरों जैसा होना चाहते हैं। अपने आप में ईश्वर की समूची कृति हैं हम। सारा श्रेष्ठ हमारे भीतर डाल रखा है उसने। तो इस कठिन दौर में थोड़ा समय अपने आपको जानने के लिए निकालिए। इसका सरल तरीका है योग। योग वह दर्पण है, जो दिखाता है आप हैं क्या।

खबरें और भी हैं...